CNG के गुण, फायदे, नुकसान- CNG ka Full Form in hindi

क्या आप जानते है CNG ka Full Form या CNG क्या है? अगर नहीं, तो इस post को जरुर पढ़े. इस post में आपको – CNG क्या है, CNG meaning in Hindi के बारे में स्पष्ट जानकारी मिलेगी । यदि आप “full form of CNG” से जुडी सभी सवालो की विस्तृत जानकारी चाहते है, तो कृपया इस आर्टिकल के साथ बने रहें.

CNG सीएनजी का फुल फॉर्म क्या होता है? – full form of CNG?

  • CNG Full Form In English: Compressed Natural Gas
  • CNG Full Form In Hindi: संपीडित प्राकृतिक गैस

CNG GAS क्या है – What is CNG GAS full form in Hindi?

CNG ka full form Compressed Natural Gas होता है हिंदी में CNG का मतलब संपीडित प्राकृतिक गैस  होता है| Compressed Natural Gas एक प्रकार का natural गैसीय ईधन है जिसका उपयोग Gas, Petrol, Diesel Fuelऔर LPG के बदले किया जाता है|

हालाँकि, इसे एक आदर्श ईधन (Ideal fuel) भी कहा जाता है क्योकी यह Gas, Petrol, Diesel की तुलना में बहुत ही कम CO2, CO, NOx और Pollution फैलाती है|

बड़े बड़े महानगरो में प्रदुषण को कम करने के लिए Compressed Natural Gas (CNG) GAS का इस्तेमाल कार, ऑटो और बसों में किया जा रहा है|

अब CNG का फुल फॉर्म पढ़कर समझ गयें होंगे की CNG kya hai. अब इससे सम्बन्धित अन्य  जानकारी प्राप्त करते हैं।

CNG के गुण, फायदे, नुकसान- CNG ka Full Form in hindi

CNG गैस के मुख्य अवयव और निमार्ण

सीएनजी की संरचना की बात की जाए तो इसमें  रिएक्टिव हैड्रोकॉर्बन 70% और नाइट्रोजन ऑक्साइड 85% होता है| और यही कारण है की यह रंगहीन, गंधहीन, विष रहित होता है| जबकि और सभी ईधन में लेड, सल्फर जैसे विषाक्त पदार्थ होते है| जो कही न कही हमारी वायुमंडल को नुकसान पहुचाते है|

इस Natural gas को एकत्रित करने के लिए Oil Deposits, Landfills और Wastewater Treatment Plants का उपयोग किया जाता है| और यहाँ से एकत्रित Natural Gas यानी  Methane CH4 को Compressed करके किसी विशेष प्रकार के Spherical या Cylindrical सिलेंडर के अंदर 20–25 MPa (3000-3600 Psi) दाब पर भर कर रखा जाता है|मुख्यतः सीएनजी तीन अवयवों मेथेन, प्रोपेन तथा एथेन से बना होता है| और इसमें सबसे प्रमुख मेथेन यानी CH4 होता है|

यह gas यह हवा से 40% हल्की होती है. खुली हवा में इसका रिसाव ( Leak) होने पर ये हवा से ऊपर की ओरजाती है. इसकी प्रकृति Non- Toxic होती है यानी खुली हवा में इसका श्राव होने से किसी को कोई नुकसान नहीं होता

 

CNG गैस का आविष्कार किसने किया है? (Who invented CNG gas?)

सबसे पहले प्राकृतिक गैस की खोज की शुरुआत 1626 में अमेरिका में शुरू की गई, प्राकृतिक गैस (natural gas) की खोज करने का श्रेय William Hart को जाता है|

हालाँकि CNG गैस का आविष्कार अमेरिका में सन 1800 हुआ, और उस समय पर्यावरण को बचने की दृष्टि से CNG सबसे बेहतर विकल्प था| समय के साथ-साथ इटली, और यूरोप के कई देशों ने भी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया|

 

CNG गैस की विशेषता और गुण क्या है

CNG की कई विशेषताओ के कारण ही कई देशो में अपनाया गया है और भारत भी उनमे से एक है आइये इसके फ़ायदे, गुण और विशेषताओ के बारे में विस्तार से जानते है|

  •  हाई ऑक्टेन नंबर होने के कारण इसे इसे आसानी से उपयोग में लाया जा सकता है| इसका ऑक्टेन नंबर 127 होता है| वही पेट्रोल का ऑक्टेन नंबर 95 होता है|
  • चूकी, CNG गैस उच्च ज्वलनशील होता है| इसमे CNG 95% मेथेन होता है, इसलिए इसमें आग आसानी से पकड़ लेती है
  • इस गैस की एक ख़ास बात है की यह Non-corrosive (गैर संक्षारक) होती है यानी इस गैस को जिस भी Spherical या Cylindrical सिलेंडर के अंदर रखा जाता है| उसमे जंग (Rust) या उस Spherical या Cylindrical सिलेंडर का संक्षरण नहीं होता है|
  • यह gas बिलकुल ही Colorless (रंगहीन) होती है| अत: इसे देखना मुश्किल है
  • यदि यह गैस खुला हो तो डराने की कोई ज़रूरत नहीं क्योकी यह Non-toxic होती है इसमें कोई भी जहरीला पदार्थ या अव्यय नहीं होता है| और ना ही CNG GAS से किसी मनुष्य या पशु पक्षी को कोई नुकसान होता है|
  • यह गैस  गंधरहित होता है इसके पास अपना कोई गंध नहीं होता है यह वायु में खुली अवस्था में होने पर बिलकुल सामान्य होता है इसे सूंघकर इसका पता लगाना बेहद मुश्किल होता है|

 

CNG के फायदे (advantages of CNG in Hindi)

  • आम तौर पर यह वायु में हानिकारक उत्सर्जन को कम करता है| क्योकी इसके उत्सर्जन में सीसा और सल्फर ना के बराबर होता है|  क्योकी CNG 95% मेथेन का बना होता है और मेथेन का दहन 100% होता है
  • यदि वाहनों की सुरक्षा की दिष्टि से देखा जाए तो  CNG का ज्वलनशील तापमान 540 डिग्री सेंटीग्रेड होता है, इसके कारण वाहनों में आग लगने का खतरा कम होता है| जबकि पेट्रोल की ज्वलनशील तापमान 250 डिग्री सेंटीग्रेड होता है| इसके कारण गर्मियों में वाहनों में आग लगाने का खतरा अधिक होता है|
  •  सीएनजी वाहन के रखरखाव की लागत काफ़ी कम होती है|
  • पेट्रोल तथा डीजल की तुलना में CNG गैस काफ़ी किफ़ायती होता है| साथ ही इसका उपयोग करना काफ़ी सरल सस्ता और safe होता है|  CNG gas Station पर CNG Fule को वाहनों में भराया जा सकता है|
  • अन्य ईंधनों पर चलने वाले वाहनों की तुलना में सीएनजी पर चलने वाले वाहनों की परिचालन लागत कम होता है|
  • अक्सर पेट्रोल और डीजल में मिलावट होता है इसके कारण वाहनों के मालिको को नुकसान उठाना पड़ता है| इसके विपरीत CNG Fule मिलावट मुक्त होता है| इसमें किसी भी प्रकार के मिलावट की कोई संभावना नहीं होती है|

 

CNG के नुक़सान  (Drawbacks of CNG gas)

  • CNG रहित गाडियों में CNG Tank लगाने की जगह नहीं होती है असर इसे गाडियों की डिक्की में install किया जाता है| इसके कारण गाडियों की डिक्की पूरी तरह से बंद हो जाती है|
  • यह एक गंधहीन गैस है और CNG लीक होने की अवस्था में Leakage का पता लगना मुश्किल हो जाता है
  • सीएनजी वाहनों के कन्वर्जन किट की कीमत 30,000 से 40,000 के बीच होती है| और बसों में कन्वर्जन किट की कीमत लगभग 3 लाख रूपये होती है |

इसे भी पढ़े:- IQ full form- IQ क्या होता है पूरी जानकारी

 

CNG और LPG में अंतर (Difference between CNG and LPG)

अक्सर, कई लोग CNG और LPG में अंतर को नहीं समझ पाते| यहाँ कुछ आसान steps में CNG and LPG के अंतरों के बारे में विस्तार से बताया गया है|

  1. CNG यानि कंप्रेस्ड नेचुरल गैस में मीथेन गैस की अधिकता होती है LPG में प्रोपेन, ब्यूटेन और अन्य गैसें का मिश्रण होता है|
  2. CNG अत्यधिक दबाव में भी गैसीय अवस्था में होती है परन्तु LPG अत्यधिक दबाव के कारण द्रव की अवस्था में बदल जाती है|
  3. CNG का मुख्य उपयोग वाहनों के ईधनो के रूप में किया जाता है जबकि LPG का उपयोग घरेलु कार्यो में किया जाता है|
  4. CNG में 9 MJ प्रति लीटर ऊर्जा होती है जबकि LPG में 25 MJ प्रति लीटर ऊर्जा होती है
  5. CNG का घनत्व LGP से कम होता है| एक समान प्रकार के सिलेंडर के अंदर CNG की तुलना में तीन गुणा ज्यादा LPG भरा जा सकता है|
  6. CNG हवा से हल्की होती है इसके रिसाव होने पर यह ऊपर की ओर उठ जाती है| जबकि LPG यह हवा इ तुलना में भारी होती है| इसके रिसाव होने की स्थिति में यह फर्श पर फ़ैल जाती है और थोड़े से ही आग की पकड़ में आने से यह विस्फोट का कारण बन सकती है|
  7.  अब आप CNG और LPG में अंतर यानी Difference Between CNG and LPG in Hindi को समझ चुके होंगे

CNG Engine कैसे काम करता है- How CNG Engine Works?

CNG की Engine construction में बहुत सारे instruments यानी पार्ट पुर्जे लगे होते है जैसे:-

  • CNG tank
  • Gas Filter
  • Pressure Regulating Valve
  • Reducer
  • Fule Roil
  • Fule Temperature sensor
  • Fule Pressor sensor
  • Injector
  • Throttle valve
  • Map sensor
  • Air Filter
  • Oxygen sensor
  •  EMU (Engine Management Unit)

अब हम एक आसान से वीडियो में माध्यम से समझेगे -How CNG Engine Works

 

CNG ka Full Form निष्कर्ष

CNG Full Form in hindi के इस लेख में हमने आपको CNG फुल फॉर्म के अलावा CNG गैस के फायदे, नुकसान तथा invented CNG gas, Difference between CNG and LPG?  भी बताए, हमें उम्मीद है कि CNG फुल फॉर्म और cng kya hota hai” के इस लेख की सूचना आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगी।

“CNG full form in hindi” के इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह हिंदी लेख जरूर पसंद आया होगा|

यदि आपको unhindi की यह post पसंद आया तो,आप इसे अपने social media पर अपने दोस्तों में share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको इस post से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे comment करें या हमें contact करे, और hindi meaning, full form in hindi, internet knowledge, how-to in hindi, से सम्बंधित जानकारी पढ़ने के लिए हमसे जुड़े रहें| (जय हिंदी जय भारत)

Comments (2)

Leave a Reply