Newspaper का पूरा नाम- Full Form of Newspaper

“NEWSPAPER ka Full Form” से जुड़ा यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही ज्ञानवर्धक साबित होने वाला है, क्यूंकि आज हम What is the full meaning of newspaper? | Invention of newspaper, Importance, History, Types से जुडी सभी Topic को अच्छे तरीके से समझेंगे. तो इन सभी सवालो की विस्तृत जानकारी चाहते है, तो कृपया न्यूज़ पेपर का पूरा नाम क्या है इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

इस आर्टिकल में : दिखाएँ

Computer और internet जैसी technology के समय में newspaper भी डिजिटल बन चूका है, आज के समय में लोग Newspaper पढ़ने के लिए ब्लॉग और वेबसाइट पर जा रहे है. हालाँकि, कई लोग newspaper Meaning in Hindi के बारे में जानना चाहते है. निचे आप न्यूज़पेपर का फुल फॉर्म जानते है. इस post को पढ़ने के साथ आप  हिंदी में जन – गण – मन का अर्थ क्या होता है के पोस्ट को भी ज़रूर पढ़े|

NEWSPAPER KA FULL FORM क्या होता है?

शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे न्यूज़पेपर यानी अखबार के बारे में ना जानता हो| यह एक ऐसा माध्यम है जिसकी मदद से देश दुनिया की हर छोटी बड़ी ख़बर हमें घर बैठे ही मिल जाती है|

लेंकिन क्या आपने अभी सोचा है की Newspaper का पूरा नाम क्या है? इसके बारे में बहुत कम ही लोग जानते है, और इस टॉपिक के बारे में इन्टरनेट पर बहुत ही कम जानकारी उपलब्ध है|

इन्टरनेट पर इसके ऐसे कई फुल फॉर्म आपको देखने को मिल जायेगे और कथाकथित तौर पर Newspaper फुल फॉर्म निम्नलिखित बताया जाता है| जैसे:

  1. North east west south popular action print early rest
  2. Notable events, weather, and sports
  3. North east-west south past and present event report
  4. North east-west south past and present everyday report
  5. North, east, west, south past and present entertainment report

इनमे से कोई भी newspaper का Official Full Form नहीं है.

क्या सच में अखबार का फुल फॉर्म होता है (IS NEWSPAPER REALLY AN ACRONYM?)

चूकी, ये इन्टरनेट की दुनिया है इसलिए और यहाँ ये सभी फुल फॉर्म वायरल हुए पड़े है| परन्तु इतिहास और Entomology और शब्द व्युत्पत्ति के अनुसार Newspaper का पूरा नाम का कोई भी श्रोत नहीं मिलता है| इसलिए ऐसा कहा जा सकता है की Newspaper का स्पष्ट रूप  से कोई फुल फॉर्म नही होता है|

“Newspaper is not an acronym”. यानी Newspaper का कोई भी फुल फॉर्म नहीं होता है|  इस बात की पुष्टि Africacheck नाम की की एक website कराती है| जहाँ ये साफ़ तौर पर लिखा गया है की

“No, ‘newspaper’ is not an acronym of ‘North, East, West, South, Past and Present Events Report”

साथ ही Quora.com पर ऐसे बहुत सवाल और जबाब पढ़ने को मिल जाएगी, जो यह prove करता है, की newspaper का पूरा नाम कथाकथित तौर पर कुछ शब्दों को जोड़ कर बनाया गया है|

full form of newspaper, what is the full form of newspaper, full form of news in hindi, newspaper ka full form, newspaper full form
full form of newspaper- newspaper ka avishkaar kisane kiya

NEWSPAPER का मतलब क्या है – WHAT IS NEWSPAPER FULL FORM IN HINDI?

यदि सच में NEWSPAPER का पूरा नाम की बात की जाये तो, यह मुख्यतः दो शब्दों से बना है इसमें पहला शब्द News और दूसरा Paper है|

Hensleigh Wedgwood के द्वारा बनाई गई Dictionary of English Etymology के अनुसार पहले शब्द यानी news की उत्त्पति एक फ़्रेंच शब्द से हुई है जिस मतलब “New Things” होता है| और कही न कही ये शब्द अखबार को Define भी करता है|

वही दुसरे शब्द यानी PAPER की उत्पत्ति लैटिन शब्द पेपिरस (papyrus) में हुई है| पेपिरस प्राचीन मिस्र में पाया जाने वाला एक पौधा होता है और इसका उपयोग कागज़ बनाने में किया जाता है| और पेपिरस शब्द की पुष्टि Dictionary of Word Roots नाम की एक Dictionary  करती है|

न्यूज़पेपर का आविष्कार कब और किसने किया|

full form of newspaper, what is the full form of newspaper, full form of news in hindi, newspaper ka full form, newspaper full form

चूकी, न्यूज़ पेपर का क्रमवार इतिहास ना होने के कारण यह कहना मुश्किल है की “न्यूज़पेपर का आविष्कार किसने और कब किया”  क्योकी इतिहास में इसके बारे में बहुत ही कम जानकारी उपलब्ध है| रोमन के काल में सन्देश भेजने के लिए पत्थर या लोहे की तहत को उपयोग में लाया जाता था| इतिहास में सबसे पहला ज्ञात समाचारपत्र 59 ई.पू. का ‘द रोमन एक्टा डिउरना’ है|

चीन ने  3 वि सदी से 8 वि शताब्दी में ख़बरों के लिए लकड़ी के टुकड़े, सिल्क और पेपर का उपयोग होने लगा| प्रिंटिंग प्रेस के आविष्कार होने के बाद, सबसे पहला न्यूज़ पेपर 1605 में जर्मनी में छपा जिसका नाम “Relation aller Fürnemmen und gedenckwürdigen Historien” था| और इसे Johann Carolus के द्वारा प्रकाशित किया गया था|

भारत सबके इतिहास में न्यूज़ पेपर की अहम्  भूमिका देखने को मिलती है| भारत में न्यूज़ पेपर 29 जनवरी 1780 में James Augustus Hickey के  द्वारा अस्तित्व में आया| जिसका नाम बंगाल गजट था| इसे “कलकत्ता जनरल एडवरटाइजर” भी के नाम से भी जाना जाता है|

इस समाचारपत्र में जेम्स अगस्टस हैकी ने ईस्ट इंडिया कंपनी के विरुद्ध कुछ आपतिजनक लेख लिखने लगे जिसे कारण ईस्ट इंडिया कंपनी ने अपने बचाव पक्ष में बंगाल गजट को बंद करवा दिया गया|

कुछ समय बाद यानी नवंबर 1780 में इंडिया गैजेट के नाम से एक और न्यूज़ पेपर  मेसियर बी मेस्नैक और पीटर रीड के द्वारा नवंबर 1780 में प्रकाशित किया गया| इसके आलावे निम्नलिखित Newspaper भारत में प्रकाशित हुए|

  • 1784 में कलकत्ता गेज़ेट को प्रकाशित किया गया
  • 1785 में बंगाल जर्नल को प्रकाशित किया गया
  • 1785 में अंग्रेजी भाषा में मद्रास में रिचर्ड जॉनसन द्वारा प्रकाशित ‘मद्रास कूरियर’ को प्रकाशित किया गया
  • 1789 में बॉम्बे हेराल्ड (बॉम्बे में प्रकाशित पहला समाचार पत्र) को प्रकाशित किया गया
  • 1790 में बॉम्बे कूरियर को प्रकाशित किया गया
  • 1791 में बॉम्बे गेज़ेट को प्रकाशित किया गया
  • 1795 में आर विलियम का ‘मद्रास गैजेट’ को प्रकाशित किया गया
  • 1796 में हम्फ्री के द्वारा ‘इंडियन हेराल्ड’ को प्रकाशित किया गया
  • 1799 में ईस्ट इंडिया प्रशासन के द्वारा पारित विनियमन को प्रकाशित किया गया

न्यूज़पेपर कितने प्रकार के होते है | TYPES OF NEWSPAPERS

  1. Business newspapers — इस प्रकार के समाचारपत्र में आपको business से सम्बन्धित ख़बर जैसे- stock info, gold price, market plan इत्यादि
  2. Mailed newspapers — डाक सेवा के माध्यम से किसी एक ख़ास क्षेत्र के  सभी घरों में समाचारपत्र भेजा जाता है।
  3. Free newspapers — ये समाचारपत्र कॉफी की दुकानों और किराने की दुकानों जैसी जगहों पर मुफ्त में रखी होती है ताई कोई भी ग्राहक आकर मुफ्त में पढ़ सके
  4. Niche newspapers — इस प्रकार के समाचारपत्र बहुत विशिष्ट विषय के बारे में लिखते है| जैसे- ब्यूटी टिप्स, होम एंड किचन, फिटनेस इत्यादि
  5. College/school newspapers — ये अक्सर छात्रों द्वारा छात्रों के हित के लिए प्रकाशित किया जाता है|
  6. Alt-weeklies — साप्ताहिक ख़बर और संस्कृति और विचारों को प्रकाशित किया जाता है
  7. Sports newspapers — सामान्य रूप इस प्रकार के समाचारपत्र किसी विशेष खेल या खेल समाचार को कवर करता है|

इंटरनेट पर उपलब्ध होने वाला प्रथम भारतीय समाचारपत्र  कौन सा है?

 “द हिंदू” इंटरनेट पर प्रकाशित होने वाला प्रथम भारतीय समाचारपत्र है, अंग्रेज़ी दैनिक समाचार पत्र है जिसे south state में बहुत ही  इसका प्रकाशन 20 सितम्बर 1878 में आरम्भ हुआ, और इसका मुख्यालय चेन्नई (भारत ) में है| इस समाचार पत्र का ऑनलाइन प्रकाशन वर्ष 1995 शुरू किया गया| 

अखबार के बारे में दिलचस्प तथ्य (INTERESTING FACT ABOUT NEWSPAPER)

आपने ऊपर के लेख को पढ़ा और आपने जाना की Newspaper Ka Aavishkar Kisane Kiya और Who Invented The Newspaper In Hindi. अब हम अखबार के बारे में दिलचस्प तथ्य पर कुछ नज़र डालते है|

  • दुनिया का सबसे पुराना न्यूज़ पेपर Gazzetta Di Mantova है. जो 1664 में शुरू किया गया था और आज भी ये न्यूज़ पेपर मौजूद है.
  • हिन्दी का प्रथम newspaper 30 मई 1826 को प्रकाशित हुआ जिसका नाम ‘उदंत मार्तंड’ था|
  • अमेरिका में पहली अखबार बोस्टन में 1690 में प्रकाशित हुआ था
  • ब्रिटेन में पहला सफल दैनिक समाचार पत्र 1702 में छपा था
  • कनाडा में पहला समाचार पत्र 1752 में हैलिफ़ैक्स राजपत्र था।
  • ब्रिटेन में पहला संडे अखबार ब्रिटिश गजट और संडे मॉनिटर 1780 में प्रकाशित हुआ
  • 1785 में डेली यूनिवर्सल रजिस्टर पहली बार प्रकाशित हुआ था। 1788 में इसका नाम बदलकर “द टाइम्स” कर दिया गया। 1814 में टाइम्स पहली बार भाप से चलने वाले प्रेस से छपा था।
  • पहला ऑस्ट्रेलियाई समाचार पत्र 1803 में प्रकाशित हुआ था।
  • 18 वीं शताब्दी में और 19 वीं शताब्दी की शुरुआत में अखबारों पर स्टांप शुल्क लगाया गया था, जिसने उन्हें महंगा बना दिया था।
  • 1855 में अखबारों पर स्टांप ड्यूटी को ख़त्म कर दिया गया|
  • 1880 में न्यूयॉर्क “ग्राफिक फोटो” छापने वाला पहला अखबार था
  • डेली मेल पहली बार 1896 में प्रकाशित हुआ था,
  • भारत में शाम में प्रकाशित होने वाली अंग्रेजी भाषा का समाचार पत्र मद्रास मेल (1868) था
  • पहला मराठी समाचार पत्र डारपन (1832) था
  • पहला मराठी मासिक दिगदर्शन (1840) था
  • हिंदी-गुजराती में पहला समाचार पत्र है वर्तमन (1849) था
  • भारत के उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक समाचार पत्र प्रकाशित होते हैं।
  • भारत में हिंदी भाषा में सबसे अधिक समाचार पत्र प्रकाशित होते हैं
  • अरुणाचल प्रदेश और लक्षद्वीप दो ऐसे स्थान है जहाँ से कोई समाचार पत्र प्रकाशित नहीं होता है।
  • भारत में पहला तमिल भाषा का अखबार स्वदेशमित्रन था
  • मलयालम भाषा में पहला समाचार पत्र राज्य समाचराम (1847) है।
  • बॉम्बे का पहला अखबार बॉम्बे हेराल्ड (1789) है।
  • टाइम्स ऑफ़ इंडिया की स्थापना 1838 में हुई थी।
  • भारत का पहला वित्तीय दैनिक समाचार पत्र “द इकोनॉमिक टाइम्स” है।
  • भारत में दैनिक रूप से सबसे अधिक बिकने वाली अंग्रेजी टाइम्स ऑफ इंडिया (1838) है।
  • सबसे पुराना मौजूदा अंग्रेजी दैनिक टाइम्स ऑफ इंडिया है।
  • हिंदी में सबसे बड़ा सर्कुलेशन वाला अखबार दैनिक भास्कर है।
  • मलयालम में सबसे ज्यादा बिकने वाली पत्रिका वनिता है।
  • दुनिया में सबसे पुराना और अभी तक प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र ऑच इनरिक्स टिडिंगार (स्वीडन) है।
  • दुनिया की सबसे पुरानी समाचार एजेंसी एग्नेस फ्रांस प्रेस (1835, फ्रांस) है।
  • कागज का आविष्कार चीनियों ने लगभग 105 A.D (ईस्वी) में किया था और इस आविष्कार को कई वर्षों तक गुप्त रखा गया था।
  • कागज लगभग 2000 साल पुराना है।
  • ओरिगेमी (Origami) यानी पेपर फोल्डिंग की कला 17 वीं शताब्दी में विकसित हुई थी
  • सभी कागज लकड़ी से नहीं बनते हैं, जैसे बैंकनोट कपास फाइबर से बने होते हैं

समाचारपत्र खबर पाने का इतिहास का सबसे सस्ता साधन था | परन्तु जैसे जैसे हम नए टेक्नोलॉजी से जुड़ते जा रहे है| वैसे वैसे इसकी लोकप्रियता कम होती जा रही है| और इसकी जगह Youtube, E-Paper और News-Website ले रहे है|

आज हम  हजारो और लाखो  Technology की सुविधाओ से घिरे होने के बाद भी हम न्यूज़पेपर के योगदान को नहीं भूल सकते है| आपने इस post में Who Invented The Newspaper In Hindi, Newspaper full form पढ़ा इसके लिए आपका धन्यवाद.

दुनिया का सबसे पुराना न्यूज़ पेपर कौन है?

समाचार पत्र दुनिया के लिए दुनिया भर की current events से जुड़े रहने और update रहने का एक तरीका रहे हैं। यह बात अलग है की आज- कल के Smartphone और Phone Application और वेबसाइटें समाचार पत्र की जगह ले रहे है, लेकिन अभी भी printed news दैनिक रूप से प्रकाशित होते हैं, और इसके लिए हमारे पूर्वजों को धन्यवाद देना चाहिए। दुनिया का सबसे पुराना न्यूज़ पेपर यानी समाचार पत्रों की सूची दी गई है!

1. Relation aller Fürnemmen und gedenckwürdigen Historien

 वर्ष – 1605
भाषा – German
 देश – Holy Roman Empire
प्रकाशक – Johann Carolus

2. Avisa Relation oder Zeitung

 वर्ष – 1609
भाषा – German
 देश – Holy Roman Empire
प्रकाशक – Lucas Schulte

3. Courante uyt Italien, Duytslandt, &c.

 वर्ष –  1618
भाषा – Dutch
 देश – Dutch Republic
प्रकाशक – Unknown, possibly Caspar van Hilten

4. Nieuwe Tijdinghen

 वर्ष – 1618
 भाषा – Dutch
 देश – Spanish Netherlands
प्रकाशक – Abraham Verhoeven

5. La Gazette

 वर्ष –  1631
 भाषा – French
 देश – France
प्रकाशक – Théophraste Renaudot (founder)

6. Gazeta

 वर्ष – 1641
 भाषा – Catalan
 देश – Spain
प्रकाशक – Unknown

7. Post- och Inrikes Tidningar

 वर्ष – 1645
 भाषा – Swedish
 देश – Sweden
प्रकाशक – Horace Engdahl

8. Einkommende Zeitungen

 वर्ष – 1650
 भाषा – German
 देश – Germany
प्रकाशक – Timotheus Ritzsch

9. Weeckelycke Courante van Europa

 वर्ष –  1656
 भाषा – Dutch
 देश – Dutch Republic
प्रकाशक – Abraham Casteleyn and Margaretha van Bancken

10. La Gaceta de Madrid

 वर्ष – 1661
 भाषा – Spanish
 देश – Kingdom of Spain
प्रकाशक – Royal Assent (Original publisher unknown)

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान कौन कौन से समाचार पत्रों का प्रकाशन हुआ

Newspaper का नामवर्षNewspaper के संस्थापकसमाचार पत्र / पत्रिका
Bengal Gazette1780जेम्स ऑगस्टस हिक्कीअंग्रेजी अखबार
Samvad Kaumudi1819राम मोहन रायबंगाली साप्ताहिक अखबार
Mirat-ul-Akbar1822राजा राम मोहन रायफारसी भाषा की पत्रिका
Hindoo Patriot1853मधुशुधन रायअंग्रेजी साप्ताहिक
Rast Goftar1854दादाभाई नौरोजीगुजराती समाचार पत्र
Som Prakesh1858ईश्वर चंद्र विद्यासागरसाप्ताहिक अखबार
Indian Mirror1862देवेंद्र नाथ टैगोरसमाचार पत्र
Amrita Bazar Patrika1868सिसिर कुमार घोष और मोतीलाल घोषसमाचार पत्र
Tahzib-ul-Akhlaq1871सर सैयद अहमद खानपत्रिका
Hindu1878वीर राघवाचार्य और जीएस अय्यरसमाचार पत्र
Kesari1881बीजी तिलकमराठी समाचार पत्र
Sudharak1888गोपाल गणेश अगरकरसमाचार पत्र
Prabuddha Bharata1896पी. अय्यसामी, बीआर राजम अय्यर,
जीजी नरसिम्हाचार्य और
बीवी कामेश्वर अय्यर स्वामी विवेकानंद के कहने पर
अंग्रेजी मासिक पत्रिका
Udbodhana1899स्वामी विवेकानंदपत्रिका
Indian Opinion1903एम. के गांधीसमाचार पत्र
Bande Mataram1905अरबिंदो घोषअंग्रेजी भाषा का अखबार
Bombay Chronicle1910फिरोज शाह मेहताअंग्रेजी भाषा का अखबार
Comrade1911मौलाना मोहम्मद अलीसाप्ताहिक अंग्रेजी अखबार
Al-Balagh1912अबुल कलाम आज़ादउर्दू साप्ताहिक समाचार पत्र
Al-Hilal1912अबुल कलाम आज़ादउर्दू साप्ताहिक समाचार पत्र
Pratap1913गणेश शंकर विधार्थीहिंदी भाषा का समाचार पत्र
New India1914एनी बेसेंटअंग्रेजी भाषा का दैनिक समाचार पत्र
Independent1919मोतीलाल नेहरूसमाचार पत्र
Young India1919एम. के गांधीसाप्ताहिक पत्रिका
Mook Nayak1920बीआर अंबेडकरमराठी साप्ताहिक
Hindustan Times1924सुंदर सिंह लायलपुरीअंग्रेजी दैनिक अखबार
Nav Jeevan1929एम. के गांधीसाप्ताहिक अखबार
Harijan1932एम. के गांधीसाप्ताहिक पत्रिका
Free Hindustan1936तारक नाथ दासपत्रिका
Hindustan Dainik1936एम.एम. मालवीयअखबार नहीं

इस पुरे Article को पढ़ने के बाद भी यदि आपके मन कोई सवाल है तो इस Interesting Facts About Indian Newspaper  FAQs & newspaper Fact QnA की मदद से आपके सारे doubts clear हो जायेगे –

  1. दुनिया का सबसे पुराना न्यूज़ पेपर कौन है

    हरलेम्स दगबल (The Haarlems Dagblad) को दुनिया में सबसे पुराना समाचार पत्र माना जाता है 

  2. अखबार का जनक किसे कहा जाता है?

    Who is the father of newspaper इस प्रश्न का जबाब- James Augustus Hickey को Father of Newspaper यानी अखबार का जनक कहा जाता है 

  3. सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन अखबार कौन सा है?

    Usa Today दुनिया का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन अखबार है इसे पढ़ने के लिए हर दिन Usatoday.Com पर सात मिलियन से भी ज्यादा Readers Visite करते है 

  4. ऑनलाइन समाचार पत्र को क्या कहा जाता है?

     ऑनलाइन समाचार पत्र को इलेक्ट्रॉनिक समाचार पत्र कहा जाता है

  5. fourth Estate यानि चौथा स्तम्भ किससे सम्बंधित है

    चौथा स्तम्भ के नाम से समाचार मीडिया ( news media ) को जाना जाता है.

  6. भारत में कितनी समाचार एजेंसियां ​​हैं।

    प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई)
    यूनाइटेड न्यूज ऑफ इंडिया (यूएनआई)
    समचार भारती
    हिंदुस्तान समचार

  7. P.T.I का फुल फॉर्म क्या है

    P.T.I का फुल फॉर्म प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (Press Trust of India) है, पीटीआई का मुख्यालय नई दिल्ली में है। दक्षिण एशिया की एकमात्र समाचार एजेंसी जो समाचार और सूचना प्रसारित करने के लिए अपना स्वयं का संचार उपग्रह है

  8. P.T.I की स्थापन कब हुई थी

    प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (Press Trust of India) की स्थापना 27 अगस्त, 1947 को हुई थी, इसने  1 फरवरी, 1949 से काम कारन शुरू किया था. 

  9. भारत का सबसे पुराना अखबार कौन सा है?

    The Bombay Samachar अब इसका नाम मुंबई समचार रख दिया गया है, यह भारत में सबसे पुराना लगातार प्रकाशित होने वाला समाचार पत्र है। बॉम्बे समचार गुजराती और अंग्रेजी में प्रकाशित होता है। इसकी स्थापना फ़रदुनजी मरज़बान ने की थी

  10. महात्मा गांधी ने किस अखबार का संपादन किया था?

    महात्मा गांधी ने यंग इंडिया नाम के Newspaper का संपादन किया था, यह एक अंग्रेजी पत्रिका थी जिसे 1919 से 1931 तक प्रकाशित किया गया

  11. PIB का फुल फॉर्म क्या होता है –

     PIB का फुल फॉर्म प्रेस सूचना ब्यूरो (Press Information Bureau) होता है, 

  12. भारतीय पत्रकारिता के पिता किसे कहा जाता है

    भारतीय पत्रकारिता के पिता चालपथी राव को कहा जाता है.

  13. विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है

    3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है 

  14. राष्ट्रीय प्रेस दिवस कब मनाया जाता है

    राष्ट्रीय प्रेस दिवस 16 नवंबर को मनाया जाता है 

  15. भारतीय समाचार पत्र दिवस कब मनाया जाता है

    भारतीय समाचार पत्र दिवस 29 जनवरी को मनाया जाता है 

  16. अमेरिका का सबसे पुराना अखबार कौन सा है?

    1801 में स्थापित न्यूयॉर्क पोस्ट, अमेरिका देश का सबसे पुराना लगातार प्रकाशित होने वाला दैनिक समाचार पत्र है।

  17. Q.ब्रिटेन का सबसे पुराना अखबार क्या है?

    Berrow’s Worcester Journal 1709 से नियमित रूप से प्रकाशित किया गया था

Newpaper Ka Full Form में आपने क्या सिखा

Invention of newspaper और newspaper का पूरा नाम पढ़कर आप अपने विचार हमारे साथ जरूर शेयर करे. इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह लेख “NEWSPAPER full form in hindi” आपको जरूर पसंद आया होगा|

यदि आपको unhindi की यह post पसंद आया तो,आप इसे अपने social media पर अपने दोस्तों में share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको इस post से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे comment करें या हमें contact करे, और hindi meaning, full form in hindi, internet knowledge, how-to in hindi, से सम्बंधित जानकारी पढ़ने के लिए हमसे जुड़े रहें|

Comments (2)

  1. Bharti roswal gujjar

Leave a Reply