सौरमंडल के ग्रहो के नाम | Solar System in Hindi

क्या आप जानते हैं सौरमंडल क्या है (What is the solar system in Hindi), ग्रह क्या होते हैं (What are planets) और “सौरमंडल में कुल कितने ग्रह हैं” तथा सौरमंडल ग्रहों के नाम हिंदी-इंग्लिश में क्या क्या है?

आपने भी रातो में कभी न कभी आसमान में तारो और कुछ ग्रहों को देखा होगा, और आपको भी इन solar system में मौजूद ग्रहों में रूचि होगी,  यदि आप Facts about planet और Planets Name in Hindi and English के बारे में विस्तृत जानकारी चाहते है, तो कृपया इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

सौर मंडल क्या है | What is Solar System In Hindi

हमारे ब्रह्मांड का सोलर सिस्टम आठ ग्रह, उपग्रह, कुछ एसट्रोइड और कुछ धूमकेतु से मिलकर बने हुए है, और सभी ग्रह लगातार सूर्य की परिक्रमा करते है. सूर्य इस सोलर सिस्टम का केंद्र है, और सौर मंडल का सबसे बड़ा तारा भी सूर्य को ही माना गया है.

सौर मंडल में उपस्थित केवल पांच ग्रहों – बुध, शुक्र, शनि, बृहस्पति और मंगल को ही हम नंगी आँखों से देख सकते है. सूर्य घड़ी के विपरीत दिशा यानी पश्चिम से पूर्व में में घूर्णन करता है, और शुक्र और अरुण की परिक्रमण और घूर्णन गति पूर्व से पश्चिम होती है. लेकिन बुध, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, वरुण की परिक्रमण और घूर्णन गति पश्चिम से पूर्व की ओर होती है.

Planets Name in Hindi and English

 Planets Name List In EnglishPlanets Name List In Hindi
1Mercuryबुध
2Venusशुक्र
3Earthपृथ्वी
4Marsमंगल
5Jupiterबृहस्पति
6Saturnशनि
7Uranusअरुण
8Neptuneवरुण

सौर मंडल में कितने ग्रह है

कुछ समय पहले हमारे सौर मंडल में ग्रहों की किल संख्या नौ थी| लेकिन प्लूटो को 24 अगस्त 2006 को ग्रहों की श्रेणी से हटा दिया गया. इसके हटाने के बाद सौर मंडल में कुल ग्रहों की संख्या आठ हो गई. international astronomical union ने इन सभी ग्रहों को दो भागो में बाँट दिया है, जिन्हें हम सौर मंडल के आन्तरिक ग्रह और सौर मंडल के बाह्य ग्रह के नाम से जानते है.

सौर मंडल के आन्तरिक ग्रह – inner planets in Hindi

सूर्य के निकट ग्रहों को आन्तरिक ग्रह कहा गया है, आन्तरिक ग्रह पृथ्वी से मिलते जुलते होते है, इन्हें inner planets या terrestrial Planets भी कहा जाता है, सौर मंडल में आन्तरिक ग्रहो की संख्या चार है

  • बुध
  • शुक्र
  • पृथ्वी
  • मंगल

सौर मंडल के बाह्य ग्रह

सूर्य से दूर स्थित ग्रहों को  बाह्य ग्रहो के नाम से जाना जाता है, इन्हें बृहस्पतीय ग्रह के नाम से भी जाना जाता है, अंग्रेजी में इसे outer planets या Jovian Planets कहा जाता है, सौर मंडल के बाह्य ग्रहो की संख्या चार है.

  • बृहस्पति
  • शनि
  • अरुण
  • वरुण

सौर मंडल के ग्रहों का क्रम | Order Of the Planets

क्रमसूर्य से दूरी के अनुसार ग्रह का नामघनत्व के अनुसार ग्रह के नामआकार के अनुसार ग्रह का नाम
1बुधशनिबृहस्पति
2शुक्रअरुणशनि
3पृथ्वीबृहस्पतिअरूण
4मंगलवरुणवरूण
5बृहस्पतिमंगलपृथ्वी
6शनिशुक्रशुक्र
7अरुणपृथ्वीमंगल
8वरुणबुधबुध

सौर मंडल के ग्रह और उसके तथ्य

Solar System in Hindi | Planets Name in Hindi and English
Solar System in Hindi | Planets Name in Hindi and English

1. बुध ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • बुध सूर्य के सबसे निकट स्थित ग्रह है।
  • सूर्य के सबसे निकट होने के कारण यह अन्य ग्रहों की तुलना में सूर्य का चक्कर सबसे कम समय में लगा लेता है.
  • यह आठ ग्रहों में सबसे छोटा ग्रह है, यह दो उपग्रहों गेनिमेड और टाइटन से भी छोटा है.
  • बुध अपनी धुरी पर अपना एक चक्कर पूरा करने के लिए 58.65 दिन लेता है और सूर्य के चारों ओर परिक्रमा को पूरा करने में 88 दिन  का समय लेता है।
  • बुध सबसे तेज ग्रह है और इसका कोई उपग्रह नहीं है।
  • इसके पास चुम्बकीय क्षेत्र का विस्तार है, जो इसे विशेष बनाता है.
  • हालाँकि बुध को सूर्य के उगने से पहले और बाद में नग्न आंखो से देखा जा सकता है.

इसे भी पढ़े

2. शुक्र ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • शुक्र सौर मंडल का सबसे चमकीला और सबसे गर्म ग्रह है. और यहाँ 96.5% कार्बन डाइऑक्साइड उपस्थित है.
  • इसे भोर का तारा या साँझ का तारा भी कहा जाता है. इसके अलावे इसे पृथ्वी की भगिनी के उपनाम से भी जाना जाता है.
  • शुक्र का व्यास 12,092 किमी है. और यह पृथ्वी के सबसे निकट ग्रह है.
  • शुक्र को अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने में 243 पृथ्वी दिन का समय लगता है, वाही यह सूर्य का पूरा एक चक्कर 224.7 दिन में लगाता है.
  • यह पृथ्वी के घूमने की विपरीत दिशा में घूमता है, और इसका कोई भी उपग्रह नहीं है.
  • इस ग्रह का नाम रोमन की सौन्दर्य की देवी के नाम पर रखा गया है.

3. पृथ्वी ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • पुरे सौरमंडल में पृथ्वी एकमात्र ऐसा ग्रह है जहाँ जीवन संभव है, यह पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है.
  • पृथ्वी अपने अक्ष पर 23.5 डिग्री झुकी हुई है.
  • पृथ्वी का द्रव्यमान 5.98 x 1024 किलोग्राम और इसका व्यास 12,756 किमी है।
  • पृथ्वी का पलायन वेग 11,200 m/s है। मतलब यदि किसी वस्तु को 11,200 m/s की speed से फेका जाये तो वह पृथ्वी  पर लौटकर वापस नहीं आएगी.
  • पृथ्वी के वायुमंडलीय में प्रमुख रूप से नाइट्रोजन (78%), ऑक्सीजन (20.95%), आर्गन (0.930%), और कार्बन डाइऑक्साइड (0.039%) हैं।
  • पृथ्वी अपने अक्ष पर 23 घंटे 56 मिनट और 4 सेकेण्ड में 1610 की.मी. की स्पीड से एक चक्कर पूरा करती है, जिसे हम एक दिन कहते है.
  • पृथ्वी सूर्य की एक परिक्रमा 365 दिन 6 घंटे 48 मिनट और 45.51 सेकेंड ( लगभग 365 दिन और 6 घंटा ) में पूरा करती है, जिसे हम एक वर्ष कहते है,
  • लेकिन चार वर्षो में एक बार Leap year होने के कारण एक वर्ष 366  दिन का हो जाता है. जिसे हम फ़रवरी माह में 28 के बदले 29 दिन में समायोजित कर देते है.
  • अर्थात पृथ्वी में दो प्रकार की गति होती है, घूर्णन गति जिसके कारन दिन और रात होते है, और दूसरा परिक्रमण या वार्षिक गति जिसके कारण ऋतू परिवर्तन, दिन रात का छोटा बड़ा होना इत्यादि जैसी घटनाए होती है.
  • पृथ्वी का सबसे निकटतम तारा प्रोक्सिमा सेंटारी (Proxima Centauri) है, जो 4.2 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है,
  • पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह चंद्रमा है.

4. मंगल ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • मंगल ग्रह को ‘लाल ग्रह’ के नाम से जाना जाता है.
  • मंगल ग्रह पर  लौह खनिज होने के कारण यहाँ आयरन ऑक्साइड की अधिकता है, इसलिए यह लाल है.
  • मंगल को अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने में 24 घंटे, 37 मिनट और 30 सेकंड का समय लगता है, वही यह सूर्य का पूरा एक चक्कर 687 दिन में लगाता है. मतलब मंगल ग्रह पर एक वर्ष में 687 दिन होते है.
  • मंगल के अपने दो उपग्रह हैं फोबोस और डीमोस.
  • फ़ोबोस डेमोस से थोड़ा बड़ा, और फ़ोबोस पर गुरुत्वाकर्षण बल भी है, जो पृथ्वी के एक हज़ारवां हिस्सा के बराबर है.
  • सौरमंडल का सबसे ऊँचा पर्वत निक्स ओलम्पिया कोलम्पस (nix Olympia columpus)  है जो मंगल पर स्थित है, इसकी ऊंचाई माउंट एवरेस्ट से तीन गुनी ज्यादा है.
  • सौरमंडल का सबसे बड़ा ज्वालामुखी ओलिपस मेसी मंगल पर है.

5. बृहस्पति ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • बृहस्पति सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है. इसका भार द्रव्यमान सूर्य के हजारवें भाग के बराबर है.
  • यह ग्रह इतना बड़ा है की इसका भार सौर मंडल के सात ग्रहों के कुल द्रव्यमान का ढाई गुना है.
  • इसका नाम रोमन सभ्यता के एक देवता जुपिटर के नाम पर रखा गया है.
  • बृहस्पति का उपरी वायुमंडल 88-92  प्रतिशत हाइड्रोजन और 8-12 प्रतिशत हीलियम से बना है
  • बृहस्पति के पास 79 उपग्रह है. जिनमे ग्यानीमिड सबसे बड़ा उपग्रह है.
  • मंगल को अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने में 9 घंटे, 50 मिनट और 30 सेकंड का समय लगता है, वही बृहस्पति 11.6 वर्षों में सूरज का एक चक्‍कर लगाता है।

6. शनि ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • यह सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है, यह पिले रंग का दिखाई देता है.
  • शनि ग्रह के चारो ओर spectacular rings system यानी वलय प्रणाली है. जो अलग-अलग कणों से मिलकर बने हुए है, जो स्वतंत्र रूप से वृत्ताकार कक्षाओं में घूमते हैं।
  • शनि को अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने में 10 घंटे 14 मिनट का समय लगता है, वही यह सूर्य का पूरा एक चक्कर 30 वर्ष में पूरा करता है
  • सौरमंडल में सबसे अधिक उपग्रह वाला ग्रह शनि है, क्योकि शनि के उपग्रहों की संख्या 82 है.

7. अरुण ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • यह सौरमंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है, इसकी ख़ोज विलियम हर्शेल ने की थी.
  • यह अपने अक्ष पर पूर्व से पश्चिम की ओर घुमता है. जबकि एनी गृह उलटे दिशा में घुमते है.
  • अरुण ग्रह पर सूर्य पश्चिम से उगता है और पूर्व में डूब जाता है.
  • यह अपनी धुरी पर इतना अधिक लेटा हुआ है की इसे लेटा हुआ ग्रह के नाम से जाना जाता है.
  • अरुण को अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने में 16 घंटे का समय लगता है, वही यह सूर्य का पूरा एक चक्कर 84 साल में पूरा करता है
  • अरुण के उपग्रहों की संख्या 27 है. और टाइटेनिया सबसे बड़ा उपग्रह है.

8. वरुण ग्रह के बारे में जानकारी और तथ्य

  • वरुण को अग्रेजी में नेपच्यून कहा जाता है, यह सूर्य से सबसे अधिक दुरी पर स्थित है.
  • वरुण ग्रह की ख़ोज जर्मनी के ख़गोलज्ञ जहांन गाले ने 1846 में की थी.
  • इसके चारो ओर मीथेन की ठंडी बादलो से घिरा हुआ है, जिसके कारन यह हरे रंग का दीखता है, जिसके कारण इसे हरे रंग का ग्रह भी कहा जाता है.
  • वरुण सूर्य का पूरा एक चक्कर 164.79 साल में पूरा करता है.
  • वरुण के उपग्रहों की संख्या 13 है. और टाइटेनिआ और ओबेरॉन सबसे बड़ा उपग्रह है.

 Moon के बारे में जानकारी और तथ्य

  • चंद्रमा कोई ग्रह नहीं बल्कि पृथ्वी का एक मात्र उपग्रह है.  चंद्रमा की सतह और उसके स्थिति का अध्ययन को सेलेनोलॉजी ( selenology ) कहते है.
  • चंद्रमा पृथ्वी का पूरा एक चक्कर 27 दिन और 8 घंटे में पूरा करता है,
  • चंद्रमा का घूर्णन समय और परिक्रमण समय यानी अपनी धुरी पर और पृथ्वी के चारों ओर घुमने का समय एक ही है. यही कारण है, की चन्द्रमा का केवल एक ही भाग दिखाई पड़ता है,
  • पृथ्वी से चंद्रमा का केवल 57% भाग ही हम देख सकते है.
  • जब एक ही महीने में दो पूर्ण चंद्रमा होते हैं, तो इसे ‘ब्लू मून’ कहा जाता है।
  • चंद्रमा हर साल हमारे ग्रह से लगभग 3.8 सेंटीमीटर दूर जा रहा है।

सूर्य  के बारे में जानकारी और तथ्य

सूर्य हमारी ब्रह्मांड में  Solar System का सबसे विशेष तारा है, और हमारा Solar System का सबसे सबसे बड़ा पिंड और मुख्य केंद्र बिंदु भी है, पृथ्वी पर जीवन संभव होने के पीछे सूर्य का भी एक महत्वपूर्ण योगदान है.

  • सूर्य (Sun) का व्यास लगभग 13 लाख 90 हज़ार किलोमीटर है, यानी यह पृथ्वी की तुलना में 109 गुना ज्यादा बड़ा है.
  • सूर्य में ऊर्जा का मुख्य श्रोत हाइड्रोजन और हीलियम है, इसमे होने वाले परमाणु संलयन के कारण ही सूर्य से ऊर्जा निकलती है.
  • इससे निकलने वाला 15 % उर्जा अंतरिक्ष में ही परावर्तित हो जाता है.
  • यदि सूर्य के  सतह का प्रभावी तापमान 5,778 K. सूर्य के कोरोना का तापमान 5×१०6 K और केन्द्र का तापमान ~15.7×१०6 K बताया गया है.
  • सूर्य के गुरुत्व्कर्षण पृथ्वी से 27 गुणा अधिक है, और इसका अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है, की दूर स्थित प्लूटो ग्रह को भी अपनी चारो ओर घुमाने के लिए मजबूर कर रहा है.
  • सूर्य का वजन दो ऑकटिलीयन टन बताया गया है.
  • हमारे सौरमंडल में सभी ग्रह सूर्य के चक्कर लगाते है, जो ग्रह जितने समय में सूर्य का एक चक्कर पूरा करता है, वह समय उस ग्रह का एक वर्ष बन जाता है, यानी वरुण ग्रह पर एक वर्ष 164.79 वर्ष के बराबर होते है.
  • सूर्य पर मौजूद साथ करोड़ टन हाइड्रोजन हर सेकंड 6,9500000 टन हीलियम और 500000 टन गामा किरणों में परिवर्तित हो जाती है.
  • यही कारन है की यदि एक पेंसिल जितना छोटा भी सूर्य का टुकड़ा  पृथ्वी पर गिरे तो 145 किलोमीटर दूर से ही आपकी मौत हो जाएगी.
  • नार्वे एक मात्र ऐसा देश है जहाँ 76 दिनों तक सूरज दिखाई देता है.
  • हर सेकेण्ड सूर्य से एक ख़राब परमाणु बम जीतनी energy निकलती है,
  • सूर्य का असली रंग सफ़ेद है, लेकिन इसके वातावरण के कारण यह पिला दिखाई देता है.
  • अगर पूरी धरती पर solar plate लगा दिया जाए, तो हर एक मीटर पर 134 वाट बिजली का उत्पादन होगा.
  • हर सेकेण्ड सूर्य का द्रव्यमान 50 लाख टन कम हो रहा है. और इस अनुसार वैज्ञानिको का मानना है की सूर्य की भी उम्र एक निश्चित समय बाद कम हो जाएगी.

क्षुद्र ग्रह क्या होता है | Asteroids in hindi

क्षुद्रग्रह को अंग्रेजी में Asteroids कहा जाता है, ये ब्रह्माण्ड में स्वतंत्र रूप से घुमते खगोलीय पिंड या चट्टानी मलबे हैं, जो मंगल और बृहस्पति ग्रहों के बिच में अवस्थित है, अक्सर क्षुद्रग्रह (Asteroids) ग्रहों से छोटे और उल्का पिंडों की तुलना में बड़े होते है.

सबसे बड़ा क्षुद्रग्रह सेरेस है, जिसका व्यास लगभग 1,025 किमी है। दुनिया के कुछ विख्यात खगोलशास्त्रीयों के अनुसार क्षुद्रग्रह का निर्माण ग्रहों के विस्फ़ोट के फ़लस्वरूप होता है. जब कुछ क्षुद्रग्रह पृथ्वी पर गिरते है, जिसके कारण पृथ्वी के सतह पर बड़े गड्डे बन जाते है, महाराष्ट्र में स्थित लोनार झील इसका उदहारण है. लोनर झील एक खारे पानी की झील है,

बौना ग्रह क्या होता है

बौना ग्रह एक प्रकार का ब्रह्माण्ड में मौजूद आकाशीय पिंड है, जो स्वतंत्र रूप से ब्रह्माण्ड में घुमाते रहते है. जैसे-

  • यम या प्लूटो ( यह दूसरा सबसे बड़ा बौना ग्रह है )
  • सीरीस
  • चेरान
  • हउमेया
  • माकेमाके
  • ऍरिस (एरिस सबसे बड़ा बौना ग्रह है।)

प्लूटो को ग्रह से क्यों हटा दिया गया?

अमेरिकी वैज्ञानिक क्लाइड टॉमबा ने 1930 में प्लूटो को खोजा, और नासा ने इसे सौरमंडल के नौंवे ग्रह के रूप में घोषित भी किया. लेकिन अंतरराष्ट्रीय एजेंसी इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन ने प्लूटो को 24 अगस्त 2006 से ग्रह का दर्जा छीन कर इसे बौने ग्रह की श्रेणी में डाल दिया. और इसका नाम ” एस्ट्रॉएड नंबर 134340 ” दे दिया गया.

अंतरराष्ट्रीय एजेंसी इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन के अनुसार प्लूटो ग्रह की श्रेणी में आने के मापदण्ड को पूरा नहीं कर रहा था जैसे

  • जो सूर्य के चारो ओर परिक्रमा करता हो
  • उसके पास पर्याप्त गुरुत्वकर्षण बल हो, जिससे वह अपनी कक्षा बना सके
  • उसके आस पास अन्य खगोलीय पिंड ना हो.
  • वह किसी दुसरे ग्रह की कक्षा में प्रवेश ना करता हो.

सभी ग्रहों के रंग याद करने की ट्रिक

सभी ग्रहों के वायुमंडल में भिन्नता होने के कारण सभी ग्रहों के अलग अलग रंग है. इन सभी ग्रहों के वायुमंडल में मौजूद गैसों के कारण इनकी रंगों में भिन्नता पाई जाती है, यहाँ ग्रह (Planet) रंग (Color) और उसके कारण ( Solar System Planet Colors in Hindi ) के बारे में जानते है.

Solar System Planet Colours in Hindi
Solar System Planet Colors in Hindi
  • पृथ्वी (Earth) – नीला ग्रह ( जल के कारण )
  • बृहस्पति (Jupiter) – पीला ग्रह ( SO2 के कारण )
  • अरुण (Uranus) – हरा ग्रह ( मीथेन के कारण )
  • शुक्र (Venus) – चमकीला ग्रह ( गर्म होने के कारण )
  • शनि (Saturn) – काला ग्रह ( N2 के कारण )
  • मंगल (Mars) – लाल ग्रह ( Iron Oxide के कारण ) 

FAQs on solar system in Hindi

इस पुरे Article को पढ़ने के बाद भी यदि आपके मन कोई सवाल है तो इस Planets Name in Hindi and English FAQs & QnA की मदद से आपके सारे doubts clear हो जायेगे. क्योकि यहाँ सौरमंडल से सम्बन्धित महत्वपूर्ण प्रश्न और solar System से जुड़े तथ्य दिए गए है, जो अक्सर इंटरव्यू या परीक्षाओ में पूछ लिए जाते है.

  1. सोलर सिस्टम में कितने प्लैनेट्स हैं?

    सोलर सिस्टम यानी सौर मंडल में आठ ग्रह मौजूद है, 2006 में प्लूटो को ग्रह की श्रेणी से निकाल दिया गया है.

  2. सबसे बड़ा बौना ग्रह कौन है?

    सबसे बड़ा बौना ग्रह ऍरिस है सबसे बड़ा दूसरा बौना ग्रह प्लूटो है?

  3. प्लूटो का हिंदी नाम क्या है?

    प्लूटो को हिंदी में यम कहते है

  4. सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है?

    सबसे बड़ा बृहस्पति ग्रह है, जिसके पास बृहस्पति के पास 79 उपग्रह है.

  5. पृथ्वी के सबसे निकट तारा कौनसा है?

    पृथ्वी से 4.2 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित प्रोक्सिमा सेंटारी (Proxima Centauri) सबसे निकटतम तारा है.

  6. सेलेनोलॉजी क्या है?

    चंद्रमा की सतह और उसके स्थिति का अध्ययन को सेलेनोलॉजी ( selenology ) कहते है.

  7. सूर्य का प्रकाश पृथ्वी तक आने में कितना समय लगता है?

    सूर्य से पृथ्वी पर प्रकाश को आने में 8.3 मिनट का समय लगता है।

  8. चाँद का प्रकाश पृथ्वी तक आने में कितना समय लगता है?

    चन्द्रमा का प्रकाश पृथ्वी तक पहुँचने में लगभग 1.3 सेकेण्ड लगते हैं। चंद्रमा और पृथ्वी के मध्य की दूरी 3,84,400 किलो मीटर है तथा प्रकाश 3,00,000 किलोमीटर प्रति सेकंड की गति से चलता है

  9. सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाने के लिए सबसे अधिक समय कौन सा ग्रह लेता है?

    वरुण सूर्य का पूरा एक चक्कर 164.79 साल में लगाता है. यानी वरुण पर एक वर्ष लगभग 165 वर्ष के बराबर होता है.

  10. सौर मंडल की ख़ोज किसने कीया?

    ब्रह्माण्ड में सौर मंडल की खोज निकोलस कोपरनिकस 1543 में किया, उन्होंने ही यह पता लगाया की सूर्य सौरमंडल का केंद्र है और सभी ग्रह और पिंड उसके गुरुत्वाकर्षण बल के कारण उसके चारो ओर चक्कर लगाते है.

  11. सौरमंडल का सबसे गर्म ग्रह कौन है?

    सौरमंडल का सबसे गर्म ग्रह शुक्र है. हालाँकि बुध सूर्य के सबसे नजदीक होने के बावजूद भी शुक्र से कम गर्म है, क्योकि शुक्र का वायुमंडल पूरी तरह से कॉर्बनडाइऑक्साइड से भरा हुआ है, और यही कॉर्बनडाइऑक्साइड ग्रीन हॉउस इफ़ेक्ट ( Green House Effect) पैदा करता है जिसके कारण सूरज की तेज़ गर्मी इसमें प्रवेश तो कर जाती है लेकिन इसके वायुमंडल से बाहर निकल नहीं पाती. इसके सतह का तापमान लगभग 462 डिग्री सैल्सियस होता है.

  12. सौरमंडल का चमकीला गर्म ग्रह ग्रह कौन है?

    सौरमंडल का सबसे जादा चमकीला ग्रह शुक्र है. इसे साँझ या भोर का तारा भी कहा जाता है. और इसे नग्न आँखों से देखा भी जा सकता है.

  13. सौरमंडल का सबसे ठंडा ग्रह कौन है?

    सौरमंडल का सबसे ठंडा ग्रह यूरेनस यानि अरूण है. इसके ज्ञात तापमान -224°C रिकॉर्ड किया गया था. इसका वायुमंडल मुख्यतः हाइड्रोजन और हीलियम जैसे गैसों से बना है.

  14. सौरमंडल का सबसे सुंदर ग्रह कौन है?

    सौरमंडल का सबसे सुंदर ग्रह शनि ग्रह को कहा जाता है. क्योकि इसके चारो ओर गोलाकार रिंग के कारण यह और भी यूनिक और सुन्दर दिखता है. शनि सबसे हल्का ग्रह भी शनि ही है.

  15. सौर मंडल का सबसे बड़ा उपग्रह कौन है?

    बृहस्पति ग्रह का ग्यानीमिड सौरमंडल सबसे बड़ा उपग्रह है. इसका व्यास (डायामीटर) 5,268 किमी है. और यह बुध ग्रह से 8% बड़ा है, इसकी खोज गैलीलियो गैलिली ने 7 जनवरी, 1610 में की थी.

  16. सौर मंडल का सबसे छोटा उपग्रह कौन है?

    डिमोज़ (Deimos) सौर मंडल का सबसे छोटा उपग्रह है. यह मंगल का उपग्रह है, इसकी त्रिज्या 6.2 किलोमीटर के करीब है. डिमोज़ मंगल ग्रह से 23,460 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है.

  17. हरे रंग का ग्रह कौन है?

    यूरनेस यानी अरुण को हरा ग्रह या  ग्रीन प्लैनेट के नाम से जाता है. यह सौरमंडल का सातवां ग्रह है. इसके वायुमंडल का आवरण मैथेन गैस के बदलो से ढका हुआ है, जिसके कारण इसपर पड़ने वाली लाल रंग की रोशनी मैथेन गैस के द्वारा अवशोषित (absorbed) कर ली जाती है, जिसके कारण यह हरी रंग की दिखती है.

  18. पृथ्वी से कौन सा ग्रह दिखता है?

    पृथ्वी से बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति और शनि इन पांच ग्रहों को देखा जा सकता है.

आपने solar system in hindi for kids के इस लेख में क्या सिखा?

आज हम जीवन की तलाश में पृथ्वी जैसे और भी ग्रहों की खोज में जुटे हुए है, मंगल ग्रह पर जीवन की सम्भावनाये तलाशी जा रही है, एलियंस पर भी Research किये जा रहे है, planet की Research में NASA और ISRO जैसे कई Space Agency इस दौड़ का हिस्सा बही हुई है.

अभी तक ब्रह्माण्ड के ऐसे कई रहस्य है जिसके बारे में मनुष्य को नहीं पता है, एसा कहा जाता है की अभी हम ब्रह्माण्ड के बारे में सिर्फ़ कुछ ही प्रतिशत जानकारी जुटा पाए है, क्योकि ब्रह्माण्ड का व्यास अज्ञात हिया या हो सकता है इसका कोई अंत ही नहीं हो. ब्रह्मांडविज्ञान (Cosmology) की लाख कोशिशो के बाद भी, हम पुरे ब्रह्माण्ड को नहीं जान सके  

इस Post को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह हिंदी लेख जरूर पसंद आया होगा| यदि आपने “Planets Name In Hindi-English (ग्रहों के नाम हिंदी-इंग्लिश में): ग्रहों की पूरी जानकारी” के इस हिंदी-पोस्ट को अच्छे से पढ़ा होगा तो इसमे दी गई जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगी।

यदि आपको unhindi की यह post पसंद आया तो,आप इसे अपने social media पर अपने दोस्तों में share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको इस post से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे comment करें या हमें contact करे-  (जय हिंदी जय भारत)

Leave a Reply