योगनिद्रा के तरीके, फायदे और सावधानियाँ | Yog Nidra in Hindi

अगर आप 8 घंटे की नींद दस से तीस मिनट में पूरी करना चाहते है तो योगनिद्रा  | Yog Nidra in Hindi  से जुड़ा यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही ज्ञानवर्धक साबित होने वाला है, क्यूंकि आज हम What Is Yog Nidra in Hindi | Yoga Nidra for Sleep Meditation | Benefits | Yog Nindra Sound Effect and Mantra  से जुडी सभी Topic को अच्छे तरीके से समझेंगे.

आप योग से अपने जीवन को स्वस्थ्य बनाना चाहते है तो  सूर्य नमस्कार क्या है | सूर्य नमस्कार करने के तरीके, फ़ायदे और सावधानियाँ,  के पोस्ट को भी ज़रूर पढ़े|


Yog Nidra क्या है | What Yog Nidra in Hindi?

योग निद्रा योग की एक क्रिया है, जिसे आध्यत्मिक निंद ( Spiritual Sleep ) भी कहते है. योग निद्रा सोने व जागने के बिच की ऐसी स्थिति है जिसमे आप कुछ समय के लिए एकाग्रता की मानसिक अवस्था में चले जाते है, और अपना पूरा ध्यान (focus) शरीर के सभ अंगो पर होता है.

सरल शब्दों में कहे तो योगनिद्रा की क्रिया में में सोना नहीं है और ना ही जगाना है. Yog Nidra Meditation की क्रिया में जमीन पर सीधे लेटकर सांसो के क्रम और शरीर के विभिन्न अंगो पर ध्यान केन्द्रित करना होता है,  यह योग का सबसे सरल और आसान तरीका है.

Yog Nidra Meditation Kya Hai | What Yog Nidra in Hindi
Yog Nidra Meditation Kya Hai | What Yog Nidra in Hindi

पुराने भारतीय शास्त्रों और कथा के अनुसार, योगनिद्रा निंद की Ancient Meditation Technique है. जब लक्ष्मण अपने भाई राम के साथ 14 वर्ष का वनवास के लिए गए तब, लक्षमण ने राम की सेवा करने के लिए निद्रा का त्याग कर दिया, और तब उन्होंने योगनिद्रा के सहारे 14 वर्ष तक बिना नींद के रहे. महाभारत के युद्ध के समय अर्जुन नें योग निद्रा करके महाभारत का पूरा युद्ध लड़ा था.

आप Yog Nidra Meditation Kya Hai पढ़कर समझ गयें होंगे की Yog Nidra का फुल फॉर्म क्या है. इस पोस्ट में आगे और भी ज्ञानवर्धक जानकारी दी गई है|, जो आपके लिए उपयोगी साबित हो सकती है|



योग निद्रा कैसे करे | How To Do Yog Nidra in Hindi

जीतनी भी योग शास्त्रों में योग का उल्लेख है उनमे से योगनिद्रा सबसे आसान और आरामदायक योग है. लेकिन योगनिद्रा कैसे करे ( Yog Nidra Kaise Kare ) इसे करने के सही तरीके क्या है, योग निद्रा करने से पहले सावधानियाँ जानते है –

योग निद्रा कैसे करे | How To Do Yoga Nidra in Hindi
योग निद्रा कैसे करे | How To Do Yoga Nidra in Hindi

Yog Nidra Poses in Hindi

  •  इस Ancient Meditation Technique को करने से पहले साफ़ हवादार और आरामदायक स्थान को चुने,
  • अगर आप कमरे में है तो दरवाजे, खिड़की खुली राखी ताकि ताज़ी हवा आ सके
  • ढीले कपड़े पहने, जमीन पर Yoga Mat या कंबल बिछाएं, और
  • उस पर शवासन (पीठ के बल ) की आरामदायक स्थिति में लेट जाए
  • सर से पैर तक एक सिध में रहे.
  • पैरो के बिच लगभग एक फुट की दुरी रखे.
  • दोनों हाथ कमर के बगल में सीधी रखे,
  • दोनों हथेलीयां ऊपर की और खुली रखे,
  • अब एक बार शरीर की स्थिति को सही ढंग से व्यवस्थित कर ले, और
  • पूरी तरह आराम की स्थिति में आइये इस योग
  • अभ्यास को शुरू करने के बाद शरीर को हिलाना – डुलाना नहीं है.

योग निद्रा कैसे शुरू करे – Steps of  Yog Nidra in Hindi

➤step 1

  • अब धीरे से आँखे बंद कीजिये, और
  • 5 बार गहरी साँस लीजिये और छोडिये
  • और अनुभव कीजिये की मानसिक और शारीरिक थकान दूर हो रही है.
  • शरीर व मस्तिष्क को शिथिल करते जाइये और मन से सभी विचारों को निकाल दे.
  • केवल विश्राम की भावना को जागृत कीजिये.

➤Step 2

  • आपको सोना नहीं है आपको जागते रहना है,
  • आप अपने आप से यह संकल्प करे की मै सोऊंगा नहीं मै जागृत रहूँगा.
  • यदि योग के बिच में कोई विचार आये तो फिर से गहरी साँस ले और फिर से शांत और स्थिर हो जाए.
  • लेटने के तुरंत बाद योगनिद्रा का अभ्यास ना करे. कुछ देर तक मात्र विश्राम का अनुभव ले.
  • और शरीर के सभी अंगो को आंतरिक रूप से शिथिल करे

➤step 3

  • अब अपनी चेतना को सर से लेकर पैर तक घुमाइए. और मन ही मन में ॐ का उच्चारण करे.
  •  अब आप अपने जीवन में जो पाना चाहते है या जो भी बुरी आदते छोड़ना चाहते है उसके लिए मन ही मन में आत्मविश्वास के साथ संकल्प करे,
  • और प्रत्येक संकल्प को कम से कम तिन बार दुहराए.
  • याद रखे योगनिद्रा में किया गया संकल्प निश्चित ही पुरे होंगे.

➤step 4

  • अब आप अपनी मानसिक चेतना को अपनी सर से लेकर पाँव तक के प्रत्येक अंगो ( 76 अंगों )  पर बारी बारी से ले जाए.
  • अब आपनी ध्यान को नाभि (navel) पर ले आइये और 30 से उलटी गिनती गिनना शुरू करे.
  • नाभि के ऊपर जाने पर 30 गिने और नाभि के निचे जाने पर 29 इस प्रक्रिया को एक तक ले कर जाए.

➤step 5

अब आप Visualization Meditation यानी अलग अलग स्थानों और चीजो को अपने एकाग्र या फोकस के माध्यम से मन में देखेगे और उसे पूरी तरह से महशुस करेगे. जैसे

  • समुन्द्र के किनारे बहती ठंडी हवा
  • रेगिस्तान में दौड़ता हुआ ऊंट
  • समुद्र में चल रहा एक जहाज़
  • हरा भरा एक जंगल, उसमे से आती कोयल की आवाज
  • उचाई से गिरता हुआ हुआ झरना जिसका ठंडा पानी अपके चहरे पर आ रहा हो
  • आपके हथेली पर एक वर्फ का टुकड़ा
  • दूर से आ रही एक ट्रेन की आवाज
  • आकाश में तैरता हुआ बादल
  • एक लम्बी सीधी सड़क, सड़क के दोनों ओर पेड़ और पदों से गिरता हुआ फुल.

➤step 6

  • अब फिर से अपने ध्यान को सांसो पर ले आइये,
  • अपने शरीर के प्रति सचेत हो जाइये,
  • अपने स्थिति और अपने आसपास के वातावरण के प्रति जागरुक हो जाओ,
  • अभी कुछ समय तक लेटे ही रहे, और  आंखे बंद ही रखे,
  • धीरे धीरे करके हाथ पैर को हिलाए शरीर को स्ट्रेच कीजिये
  • अब धीरे से उठ कर बैठे और आंखे खोले.
  • आपक योग निद्रा पूरा हुआ. अब आप जैसे ही योगनिद्रा से जगेगे  आपको ताजगी का अहसास, आपका शरीर ऑक्सीजन से परिपूर्ण होगा, आपको एक नई उर्जा का अनुभव होगा. योगनिद्रा मानसिक एवं आत्मिक का अति उपयोगी योग है.


योग निद्रा के फ़ायदे | Benefits of Yog Nidra in Hindi

योग निद्रा का सीधा सम्बन्ध आपके निंद  और मस्तिष्क से है, इस योग का अभ्यास करके आप अनिंद्र,  Anxiety और Stress से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते है, Yog Nidra Meditation के कई  फ़ायदे और लाभ ( Benefits of Yoga Nidra  ) है, जिसकी मदद से आप जीवन भर Healthy रह सकते है.

योग निद्रा के फ़ायदे | Benefits of Yog Nidra in Hindi
योग निद्रा के फ़ायदे | Benefits of Yog Nidra in Hindi
  • स्मरण शक्ति 

यह योग हमारे शरीर और मस्तिष्क को आराम देता है, और हमें अधिक उर्जावान और हमें तनावमुक्त करता है, इस योग निद्रा शारीरिक या मानसिक थकावट को कम करता है, जिससे हमारे दिमाग की एकाग्रता और स्मरण शक्ति बढती है. साथ ही यह कई प्रकार के Psychological Disorders में भी लाभदायक है।

  • हृदय रोग, सिरदर्द, तनाव में लाभदायक

Yog Nindra Meditation हमारे शरीर की कई बीमारियों जैसे रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोग, सिरदर्द, तनाव, को ठीक करता है, आक्सीजन की सही मात्र को संयोजित करता है, शरीर के सभी Hormonal Imbalance में सुधार करता है और सही Hormone level को नियंत्रित करता है, जिसके फलस्वरूप रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोग में लाभदायक है.

  • नींद की कमी दूर करे

अगर आप दिन और रात भर काम करके बहुत अधिक Physically या Mentally  थक चुके है और आपके पास नींद लेने के लिए समय नहीं है तो आप  Yog Nidra कर सकते है, एक ” Yoga Nidra for Sleep ” सर्वे के अनुसार 40 मिनट की Yog Nidra आपके 3 घंटे की नींद के बराबर है मतलब आप 3 घंटे की नींद सिर्फ 40 मिनट के योग से पूरा कर सकते है.

  • रक्त संचार में सुधार

योग की इस निद्रा में रक्त संचार में आक्सीजन की मात्रा बढ़ती है जिसके कारन रक्त संचार में सुधार होता है, और रक्तचाप की समस्या दूर होती है. इसके  निरंतर अभ्यास से आपको योग निद्रा के फ़ायदे ( 8 Benefits of Yoga Nidra in Hindi  ) मिलाने लगेगे.

  • जोड़ो के दर्द में लाभदायक

इसे करने के दौरान हमारा शरीर के लगभग सभी अंग जैसे कंधे, घुटना, जांघ, नितंब, पैर की सभी उंगलियां, भुजा, हथेली, गर्दन, पैर का तलवा, एड़ी, कमर, पिंडली, चेहरे और सिर बिलकुल सीधी और Relax की स्थिति में होता है, इसके लगातार Practice से जोड़ो के दर्द, गर्दन दर्द, कमर दर्द, घुटनों, जोड़ों का दर्द को में आराम मिलाता है

  • शारीरिक ऊर्जा नियंत्रित

इस योग निद्रा को किसी भी शारीरिक या मानसिक थकावट को कम करने के लिए किया जा सकता है, इसके अभ्यास से

  • शरीर को गरमाहट मिलाती है,
  • Body Relax होता है,
  • शरीर में ऊर्जा ( Energy Level ) को बढ़ता है,
  • Energy को संचारित और नियंत्रित करता है
  • Body and Mind को Relaxation मिलाता है
  • Exercise के बाद मांसपेशियों को आराम

अक्सर Exercise करने के बाद हमें काफी थकान होती है, और हमारे शरीर में उर्जा की कमी लगाती है. ऐसे में योग निद्रा करने से तुरंत उर्जा मिलाता है और हमारे शरीर की मांसपेशियों के तनाव को आराम मिलता है. अपने Workout करने के बाद मात्र  15 मिनट का योग निद्रा आपके  मांसपेशियों और शारीरिक उर्जा के फायदेमंद है.



Yog Nidra for Sleep Audio in Hindi

योग निद्रा मानसिक विकारो और शरीर के तमाम रोगों को दूर करने का सबसे बढ़िया और आसान योग है. मनुष्य जब से जन्म लेता है तब से वह दो ही स्थिति में होता है या तो वह जागृत होता है या तो वह नींद में होता है.

लेकिन यह Yoga Nidra Meditation आपको दोनों स्थिति के बिच में रखती है यानी आप मानसिक रूप से गहरी नींद में होते हुए भी आप जागरण की स्थिति में होते है.  इस स्थिति को समझाने के लिए योग निद्रा ध्यान का विडियो ( yoga Nidra Video ) को देखते है

FAQs Yog Nidra in Hindi

इस पुरे Article को पढ़ने के बाद भी आपके मन में कई सवाल होंगे तो इस Yog Nidra meditation FAQs & QNA की मदद से आपके सारे Doubts Clear हो जायेगे –

Q. योग निद्रा का मंत्र क्या है ?

Ans:- यह एक योग क्रिया है इसके लिए किसी भी विशेष मन्त्र का उल्लेख नहीं किया गया है, हाँ लेकिन आप अपने आप को एकाग्रचित (focus) करने के लिए निद्रा के समय मन्त्र का जाप कर सकते है, इसके अलावे आप चाहे तो योग निद्रा का मंत्र के रूप में  गायत्री मन्त्र का भी उच्चारण कर सकते है. इसके लिए आप Yoga nidra mp3 Audio को भी सुन सकते है 

Q. yog nidra के Side effects क्या है ? 

Ans:-  Side effects of yog Nidra के सन्दर्भ में अभी तक किसी भी तरह का Side effects नहीं देखा गया है,  Yoga Nidra for Sleep अपने अनिंद्र,  ह्रदय रोग और तनाव को ठीक करने का एक प्रमाणित तरीका है. इसे  प्रत्येक उम्र के लोगो को कराया गया और Side effects के बदले उनकी मानसिक स्थिति में सुधार देखा गया,

Q. योग निद्रा करने का सही समय क्या है ?

Ans:- इस Yog Nidra Meditation का अभ्यास हमें  प्रतिदिन करना चाहिए, अधिक थकान, डिप्रेशन या उर्जा की कमी महसूस होने पर इसे किया जा सकता है, इसे सुबह के समय खाली पेट, या रात के समय हल्का खाने के बाद किया जाए तो, अधिक लाभ मिलता है 

Q. क्या रात को सोते समय योग निद्रा किया जा सकता है ?

Ans:- हाँ, योग निद्रा को रात में सोते समय किया जा सकता है, जिन्हें तनाव, अनिंद्र या जिनके शारीर में उर्जा है वो रात को yog Nidra का अभ्यास कर सकते है. 

Q. योग निद्रा कितने समय तक करना चाहिए ?

Ans:- इसे Exercise करने के बाद 15 मिनट के लिए किया जाना चाहिए, सामान्य लोग इसे 15 से 20 मिनट कर सकते है, और जो अनिंद्र,  Anxiety और Stress से ग्रसित है उन्हें 40 से 45 मिनट जरूर करना चाहिए. 

Q. Yog Nidra खली पेट करे या खाना खाकर ?

Ans:- Yog Nidra का अभ्यास खली पेट करना चाहिए यदि रात में सोते समयअभ्यास करना चाहते है तो रात के खाने के आधे घंटे बाद किया  जाना चाहिए.  इसे खाली पेट करने से पुरा पूरा लाभ मिलता है.

Q. योग निद्रा की जरुरत क्यों है ?

Ans:-  एक कहावत है की “पेट और मन दोनों साफ रखना चाहिए”  क्योकि हमारे शरीर को यही दो चीज है जो बीमार करते है,  छोटी छोटी बाते हमारे मन में बैठ जाती है और हम उन बातो को अपने मन से नहीं निकाल पाते. और छोटी सी negative thought आपके Insomnia, Anxiety और Stress का कारण जाती है. अनिद्रा, चिंता और तनाव से राहत के लिए योग निद्रा एक बेहतर उयाय है.

Q. योग निद्रा के प्रकार क्या है ?

Ans:- योग निद्रा के प्रकार का कोई वर्णन नहीं मिला है, लेकिन हाँ, महाभारत के अर्जुन ने योगनिद्रा निद्रा पर विजय प्राप्त कर ली थी, और उन्होंने बिना नींद लिए महाभारत का युद्ध लड़ा, हो सकता है नींद लेने के इस ख़ास तरीके के कारण ही इसका नाम योगनिद्रा रखा गया

Q. योग निद्रा कौन कौन कर सकता है ?

Ans:- योग निद्रा कोई भी कर सकता है, इस योग का अभ्यास किसी भी उम्र के महिला पुरुष बूढ़े बच्चे  कर सकते है.  योग का अभ्यास के लिए उम्र की कोई सीमा नहीं है. 

Q.yoga nidra की विधी क्या है ?

Ans:- योग निद्रा करने के तरीके ऊपर बताये गए है 



आपने Yog Nidra Hindi के इस लेख में क्या सिखा?

इस Post के सन्दर्भ में यह कहा जा सकता है की नींद हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, शरीर में कई बिमारियां अच्छी नींद ना लेने के कारण होती है, वही आज युवाओ में अनिंद्रा, चिंता और तनाव एक चिंता का विषय बनता जा रहा है, Computer और लैपटॉप के अधिक इस्तेमाल से कई लोग अनिंद्र का शिकार हो रहे है, ऐसे में हमें योग का सहारा लेना होगा.

योग निद्रा क्या है | योग निद्रा करने के तरीके , फायदे और सावधानियाँ  ” Yog Nindra in Hindi ” के इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह हिंदी लेख जरूर पसंद आया होगा| यदि आपने इस हिंदी-पोस्ट को अच्छे से पढ़ा होगा तो इसमे दी गई जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगी।

यदि आपको Unhindi की यह Post पसंद आया तो,आप इसे अपने Social Media पर अपने दोस्तों में Share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको इस Post से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे Comment करें या हमें Contact करे-  (जय हिंदी जय भारत)

One Response

Leave a Reply