GI Tags क्या होता है 300+ GI Tags ka Full Form

भारत का प्रत्येक राज्य अपनी किसी न किसी ख़ास चीजों के लिए जाना जाता है| जैसे- कश्मीर का केसर, मध्य प्रदेश का कड़कनाथ मुर्गा, हाजीपुर की लीची और बीकानेरी भुजिआ और बनारस की साड़ी के साथ साथ  ऐसे बहुत सारे प्रसिद्ध चीजे है जिन्हें GI Tags मिला हुआ है और ये ख़ास उसी क्षेत्र के नाम से प्रचलित होते है|

परन्तु अब आप सोच रहे होंगे की “GI Tags ka Full Form क्या होता है, GI Tags क्या है (what is GI tags), जीआई टैग के फ़ायदे, “List of GI Tags 2021” में कौन से product को शामिल किया गया है|तो कृपया इस पोस्ट को पूरा पढ़े और हमें उम्मीद है की आपको सभी प्रश्नों के उत्तर इस लेख में मिलगे, और अंत में  भी दी गई है, तो कृपया इस आर्टिकल के साथ बने रहें.

 

GI Tags क्या होता है? – What is the full form of GI Tags?

GI Tags का फुल फॉर्म Geographical Indications Tags होता है, GI Tags का हिंदी में मतलब भौगोलिक उपदर्शन टैग होता है| यह एक प्रकार का एक भौगोलिक संकेत होता है| जो जीआई के रूप उसके गुण उत्पादन के भौगोलिक स्थान के नाम से जोड़ दिया जाता है|यह किसी क्षेत्र विशेष के आधार पर एग्रीकल्चर गुड्स, हैंडीक्राफ्ट्स, Manufactured प्रॉडक्ट्स, खाद्य सामग्री को दिया जाता है|

  • GI Tags Full Form In English: Geographical Indications Tags
  • GI Tags Full Form In Hindi: भौगोलिक उपदर्शन टैग

यदि आसान शब्दों में कहा जाए तो जीआई टैग यह सुनिश्चित करता है, की इस वस्तु को जीआई टैग के रूप में पंजीकृत किया गया है, उस भौगोलिक क्षेत्र के अलावे अन्य कोई भी भौगोलिक क्षेत्र उस वस्तु का लोकप्रिय उत्पाद नाम का उपयोग नहीं कर सकता और ना उसका क्रेडिट ले सकता है|

उदाहण के लिए- बासमती चावल, महाराष्ट्र सोलापुर की चद्दर, चंदेरी साड़ी, दार्जिलिंग टी, तमिलनाडु का इस्ट इंडिया लेदर, महाराष्ट्र की Nashik Valley Win, गोवा की फेनी, राजस्थान की बीकानेरी भुजिया, तिरुपति का लड्डू – निचे 300+ List of GI Tags 2021 दिया गया है जिसमे आप और भी कई product के जीआई टैग के बारे में जान सकते है|

मान लीजिये की आपके क्षेत्र विशेष में कोई  खाद्य सामग्री प्रसिद्ध है, और वहाँ की association चाहती है, की इस खाद्य सामग्री को इस क्षेत्र के नाम से इस खाद्य सामग्री को पहचाने तो वे रजिस्ट्रार ऑफ जियोग्राफिकल इंडिकेशन (Registrar of Geographical Indication) , यानी जीआई के लिए सरकार को आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें आवेदन के साथ उस product की  historical documental Proof देना होता है|

Unique product को जीआई टैग देने की शुरुआत Geographical Indications of Goods (Registration and Protection) Act के तहत 2003 में हुआ| और अब प्रत्येक वर्ष  List of GI Tags (Geographical Indications) को जारी किया जाता है| भारत का सबसे पहला जीआई टैग लेने वाला उत्पाद दार्जिलिंग चाय है|

अब What is GI Tags in Hindi? पढ़कर समझ गयें होंगे की GI Tags kya hai. अब इससे सम्बन्धित अन्य  जानकारी प्राप्त करते हैं।

इसे भी पढ़े:- Newspaper का पूरा नाम- Full Form of Newspaper

 

 

Geographical Indication Logo, Tagline

भारत सरकार ने इस टैग के अंतर्गत आने वाले product को चिन्हित करने के लिए एक ख़ास प्रकार का GI Tag sambol को डिज़ाइन किया है जिसमें Geographical Indication Logo, Tagline को शामिल किया गया है|

Geographical Indication Logo, Tagline

यदि आप इसके Logo को ध्यान से देखे तो इसमें आपको Capital Latter में G और I देखाई देगा जो Geographical Indication का short name है, इसके अलावे इसमें Location Symbol को भी दिखाया गया है जिसका अर्थ किसी विशेष स्थान से है. GI केLogo को आद्री चटर्जी के द्वारा बनाया गया है

इसके साथ भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के तिरंगे के रंग को भी शामिल किया गया है, जिससे इसमें भारतीय भावना का समावेश भी मिलाता है| इसे 1 अगस्त 2018 को नई दिल्ली में लॉन्च किया गया था|

इसके GI Tagline में “Invaluable Treasures of Incredible India” यानी “अतुल्य भारत के अमूल्य निधि” का वर्णन है, GI के tagline को आकांक्षा त्रिपाठी के द्वारा बनाया गया है

 

GI Tag किन प्रॉडक्ट को दिया जाता है (GI Tags ka Full Form)

जीआई टैग के रूप में पंजीकृत होने वाले product को Geographical Indications of Goods (Registration and Protection) Act, 1999 के द्वारा एक सर्टिफिकेट दिया जाता है|  साथ ही सर्टिफिकेट के साथ एक उसस समुदाय या भौगोलिक क्षेत्र को एक GI Tag Logo दिया जाता है| जिसका उपयोग उस product के packing के डब्बे पर 10 वर्ष तक किया जाता है 10 वर्ष बाद इसे दोबारा रिन्यूअल कराया जा सकता है

जीआई टैग मुख्यतः

  • हस्तशिल्प (Handicrafts)
  • औद्योगिक उत्पादों (industrial products)
  • शराब और स्प्रिट पेय (Wine and spirit drink)
  • कृषि उत्पादों (agricultural products)
  • खाद्य सामग्री (foodstuffs) के  लिए दिया  है|

इसे भी पढ़े:- सूर्य नमस्कार- Steps, poses, mantra and Benefit

 

GI Tags क्या है, full form of gi tag, List of GI Tags 2021, what is gi tag in hindi, gi tag list pdf download, gi tag full form in hindi, gi tag ka full form

image source Wikipedia

जीआई टैग के क्या फ़ायदे है (Benefits of gi tag)

  • जीआई टैग मिलाने से उस भौगोलिक क्षेत्र का export बढ़ता है| क्योकी जीआई टैग मिलाने से लोगो को यह पता चल चुका होता है की यहाँ वो वस्तु ओरिजिनल ही मिलेगी| जैसे लोग बनारसी साड़ी के लिए बनारस आयेगे
  • एग्रीकल्चर , हैंडीक्राफ्ट्स, Manufactured प्रॉडक्ट्स, खाद्य सामग्री बनाने वाले किसान, मज़दूर और कंपनी को सीधा लाभ मिलता है|
  • MSME (Micro, Small & Medium Enterprises) sector के अंतर्गत आने वाले लघु कुटीर उद्योग को भी लाभ मिलाता है|
  • नकली product को रोकने में मदद मिलती है| क्योकी Gi tag certificate के अनुसार product की originality पर ख़ास क्षेत्र का अधिकार होता है|

 

List of Geographical Indications (GI) Tags in India 

वर्तमान समय में भारत लगभग 300 से भी अधिक product को जीआई टैग मिल चुका है| अक्सर प्रतियोगिता परीक्षाओ में  List of GI Tags pdf in Hindi से प्रश्न पूछ लिए जाते है| इसी बात को ध्यान में रखते हुए निचे “List of Geographical Indications (GI) Tags in hindi pdf” की पूरी table दे दी गई है इसे आप आसानी से पढ़कर याद कर सकते है|

 

Geographical indication Things (वस्तु )Type or description (विवरण और प्रकार)State/UT (राज्य)
कश्मीर केसर कृषि जम्मू और कश्मीर
मणिपुरी काले चावल खाद्य सामग्री मणिपुर
मिजोरम का निगोथेरहहस्तशिल्प मिजोरम
कोडाइकनाल मलाई पूंडु कृषि तमिलनाडु
पलानी पंचतीर्थम् खाद्य सामग्री तमिलनाडु
Tawlhlohpuan हस्तशिल्प मिजोरम
Mizo Puanchei हस्तशिल्प मिजोरम
मिजोरम का हमारामहस्तशिल्प मिजोरम
तिरूर बेटल लीफ (तिरूर वेटिला) कृषि केरल
Khola Chilli कृषि गोवा
गुलबर्गा तूर दाल कृषि कर्नाटक
कंडांगी साड़ी हस्तशिल्प तमिलनाडु
काजी नेमु कृषि असम
डिंडीगुल ताले (Dindigul Locks)निर्मित तमिलनाडु
इदू मिश्मी टेक्सटाइल्स (Idu Mishmi Textiles) कपड़ाअरुणाचल प्रदेश
पानडुम,न्यगोतेख ,हम राम, तवालों पुआन, मिजो पूआनचेई शाल मिजोरम
कोटपैड हैंडलूम कपड़ेहस्तशिल्पओडिशा
पोचमपल्ली इकत साड़ीहस्तशिल्पतेलंगाना
दार्जिलिंग चायकृषिपश्चिम बंगाल
पयन्नूर पविथरा रिंग (Payyannur Pavithra Ring)हस्तशिल्पकेरल
चंदेरी साड़ीहस्तशिल्पMadhya Pradesh
अरनमुला कन्नडीहस्तशिल्पकेरल
सलेम कपड़ेहस्तशिल्पतमिलनाडु
चंदेरी साड़ीहस्तशिल्पMadhya Pradesh
सोलापुर चादरहस्तशिल्पमहाराष्ट्र
पोचमपल्ली इकतकपड़ातेलंगाना
सलेम कपड़ेहस्तशिल्पतमिलनाडु
कुल्लू शालहस्तशिल्पहिमाचल प्रदेश
Bidriwareहस्तशिल्पकर्नाटक
उड़ीसा इकतहस्तशिल्पओडिशा
मदुरै सुंगुड़ीहस्तशिल्पतमिलनाडु
मैसूर सिल्कहस्तशिल्पकर्नाटक
चन्नपटना खिलौने और गुड़ियाहस्तशिल्प
कर्नाटक
Kota Doriaहस्तशिल्पराजस्थान
मैसूर अगरबत्तीनिर्मितकर्नाटक
नवारा चावलकृषिकेरल
पलक्कड़न मटका चावलकृषिकेरल
Srikalahasthi Kalamkariहस्तशिल्पआंध्र प्रदेश
फुलकारीहस्तशिल्पराजस्थान, पंजाब, हरियाणा
कोयम्बटूर वेट ग्राइंडरनिर्मिततमिलनाडु
कांगड़ा चायकृषिहिमाचल प्रदेश
मैसूर रोज़वुड इनलेहस्तशिल्पकर्नाटक
कोंडापल्ली बोम्मल्लूहस्तशिल्पआंध्र प्रदेश
मालाबार पेपरकृषितमिलनाडु, केरल, कर्नाटक
इलाहाबाद का सुरखा अमरूदकृषिUttar Pradesh
कानी शालहस्तशिल्पजम्मू और कश्मीर
असम का मुगा सिल्कहस्तशिल्प
असम
करीमनगर की सिल्वर फिलाग्रीहस्तशिल्पतेलंगाना
वायनाड रोबस्टा कॉफी

कृषि

केरल
एलेप्पी कॉयरहस्तशिल्पकेरल
चेंगलिकोडन नेंद्रन केलाकृषिकेरल
Nakshi Kanthaहस्तशिल्प
पश्चिम बंगाल
वायनाड जीरकसला चावलकृषि

केरल
कश्मीर सोज़ानी शिल्पहस्तशिल्पजम्मू और कश्मीर
पलक्कड़ का मदालम

हस्तशिल्प

केरल
वायनाड गंधकसाल चावल
कृषिकेरल
एलेप्पी ग्रीन इलायचीकृषिकेरल
केरल के पीतल के बने नारियल के खोल शिल्पहस्तशिल्पकेरल
मैसूर चंदन का तेलनिर्मितकर्नाटक
केरल के पेंच पाइन शिल्पहस्तशिल्प
केरल
मैसूर सैंडल साबुननिर्मितकर्नाटक
तंजावुर पेंटिगहस्तशिल्पतमिलनाडु
कसुती कढ़ाईहस्तशिल्पकर्नाटक
नंजनगुड केलाकृषिकर्नाटक
मोलेला क्ले काम (Molela Clay Work)हस्तशिल्पराजस्थान
कूर्ग ऑरेंजकृषिकर्नाटक
जयपुर की ब्लू पॉटरीहस्तशिल्पराजस्थान
मैसूर का पान का पत्ताकृषिकर्नाटक
मैसूर का गंजीफा कार्डहस्तशिल्पकर्नाटक
मैसूर पारंपरिक पेंटिंगहस्तशिल्पकर्नाटक
नवलगुंद दरी (Navalgund durries)हस्तशिल्पकर्नाटक
कर्नाटक का कांस्य वेयरहस्तशिल्प
कर्नाटक
कश्मीर पश्मीनाहस्तशिल्पजम्मू और कश्मीर
उडुपी मल्लिगेकृषिकर्नाटक
मैसूर मल्लिगेकृषिकर्नाटक
सैंडूर लैंबनी कढ़ाईहस्तशिल्पकर्नाटक
राजस्थान की कठपुतलीहस्तशिल्पराजस्थान
हदगाली मल्लिगेकृषिकर्नाटक
इल्कल साड़ीहस्तशिल्पकर्नाटक
कमालपुर का लाल केला (Red Banana)कृषिकर्नाटक
कूर्ग हरी इलायचीकृषि
कर्नाटक
अप्पीमिडी आमकृषिकर्नाटक
मानसून मालाबार रोबस्टा कॉफी
कृषिकर्नाटक
देवनहल्ली नॉबकृषि
कर्नाटक
मोलकलमुरु साड़ीहस्तशिल्पकर्नाटक
Guledgudd Khanaकपड़ा
कर्नाटक
बैंगलोर ब्लू अंगूर

कृषि

कर्नाटक
कोल्हापुरी चप्पल

जूते

महाराष्ट्र और कर्नाटक
सिरसी सुपारी

कृषि

कर्नाटक
कूर्ग अरबी कॉफी

कृषि

कर्नाटक
चिकमगलूर अरेबिका कॉफ़ी

कृषि

कर्नाटक
Bababudangiri arabica coffee

कृषि

कर्नाटक
कनहल खिलौने

हस्तशिल्प

कर्नाटक
उडुपी साड़ी

कपड़ा

कर्नाटक
पोकली चावल

कृषि

केरल
चंबा रुमाल

हस्तशिल्प

हिमाचल प्रदेश
धारवाद पेडा (Dharwad Pedha)

खाद्य सामग्री

कर्नाटक
बैंगलोर रोज प्याज

कृषि

कर्नाटक
बस्तर लौह शिल्प

हस्तशिल्पछत्तीसगढ
पिपली वाल लैंप काम
(Pipli Applique Work)
हस्तशिल्पओडिशा
मॉनसून मालाबार अरेबिका कॉफ़ी

कृषि

कर्नाटक
बस्तर ढोकरा

हस्तशिल्पछत्तीसगढ
मछलीपट्टनम कलमकारी (Machilipatnam Kalamkari)हस्तशिल्पआंध्र प्रदेश
कोणार्क पत्थर की नक्काशी

हस्तशिल्पओडिशा
बस्तर लकड़ी का शिल्प

हस्तशिल्पछत्तीसगढ
Budithi बेल और पीतल धातु शिल्प
(Budithi Bell & Brass Metal Craft)

हस्तशिल्पआंध्र प्रदेश
अरनी सिल्क

हस्तशिल्पतमिलनाडु
निर्मल खिलौने और शिल्प

हस्तशिल्पतेलंगाना
उड़ीसा पट्टचरित्र
(Orissa Pattachitra)

कपड़ा

ओडिशा
ईस्ट इंडिया लेदर

निर्मित

तमिलनाडु
सलेम सिल्क

हस्तशिल्पतमिलनाडु
सिरुमलाई हिल केला

कृषि

तमिलनाडु
विरुपाक्षी हिल केला (Virupakshi Hill Banana)

कृषि

तमिलनाडु
रेशम कालीन-हथकरघा कालीन (Bhavani Jamakkalam)

हस्तशिल्पतमिलनाडु
स्वामीमलाई कांस्य प्रतीक (Swamimalai Bronze Icons)

हस्तशिल्पतमिलनाडु
कांचीपुरम रेशम

हस्तशिल्पतमिलनाडु
तंजावुर आर्ट प्लेट

हस्तशिल्पतमिलनाडु
कोवई कोरा कॉटन साड़ी

हस्तशिल्पतमिलनाडु
तंजावुर गुड़िया

हस्तशिल्पतमिलनाडु
पट्टमदाई पै (पट्टामदाई मैट)

हस्तशिल्पतमिलनाडु
नागरकोइल के मंदिर के आभूषण

हस्तशिल्पतमिलनाडु
नाचार्कोइल कुथुविलाक्कु (नाचार्कोइल लैंप)

हस्तशिल्पतमिलनाडु
मदुरै मल्ली

कृषि

तमिलनाडु
बनारस ब्रोकेस और साड़ी (Banaras Brocades and Sarees)

हस्तशिल्पUttar Pradesh
इंदौर के चमड़े के खिलौने

हस्तशिल्पMadhya Pradesh
मध्य प्रदेश के बाग प्रिंट (Bagh Prints of Madhya Pradesh)

हस्तशिल्पMadhya Pradesh
संखेडा फर्नीचर

हस्तशिल्पगुजरात
नीलगिरि (रूढ़िवादी)

कृषितमिलनाडु
Agates of Cambayहस्तशिल्पगुजरात
कच्छ कढ़ाई

हस्तशिल्प

गुजरात
Jamnagari Bandhani

हस्तशिल्प

गुजरात
निर्मल फर्नीचर

हस्तशिल्प

तेलंगाना
निर्मल चित्र (Nirmal Paintings)

हस्तशिल्प

तेलंगाना
लक्ष्मण भोग आम

कृषि

पश्चिम बंगाल
Khirsapati (Himsagar) Mango

कृषि

पश्चिम बंगाल
नागा मिरचा

कृषि

नगालैंड
फाजली आम (मालदा जिले में उगाया जाता है)कृषि

पश्चिम बंगाल
एठोमोझी लंबा नारियलकृषि

तमिलनाडु
शांतिपुर साड़ी

हस्तशिल्प

पश्चिम बंगाल
पिपली अप्लीक क्राफ्ट, अब एप्लीकेशन नंबर 8 के साथ विलय हो गया है - पिपली अप्लीक वर्क

हस्तशिल्प

ओडिशा
शांतिनिकेतन चमड़े का सामान

हस्तशिल्प

पश्चिम बंगाल
लखनऊ चिकन क्राफ्ट

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
बालूचरी साड़ी

हस्तशिल्प

पश्चिम बंगाल
तिरुपति लड्डू (Tirupati Laddu)

खाने का पदार्थ

आंध्र प्रदेश
बाईदागी मिर्च

कृषि

कर्नाटक
फेनी

निर्मित

गोवा
उपपा जमदानी साड़ी

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश चमड़ा कठपुतली

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
दुर्गी स्टोन की नक्काशी

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
एतीकॉप्पका के खिलौने

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
टंगलिया शाल

हस्तशिल्प

गुजरात
नासिक वैली वाइन

निर्मित

महाराष्ट्र
पुनेरी पगड़ी

हस्तशिल्प

महाराष्ट्र
टोडा कढ़ाई

हस्तशिल्प

तमिलनाडु
अरकु घाटी अरबिका कॉफ़ी

कृषि

आंध्र प्रदेश
खंडुआ साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

ओडिशा
गडवाल साड़ी

हस्तशिल्प

तेलंगाना
सांगानेरी हैंड ब्लॉक प्रिंट

हस्तशिल्प

राजस्थान
बीकानेरी भुजिया (Bikaneri Bhujia)

खाने का पदार्थ

राजस्थान
बासमती

कृषि

भारत
गुंटूर सनम मिर्च (Guntur Sannam Chilli)

कृषि

आंध्र प्रदेश
कैनानोर होम फर्निशिंग्स

हस्तशिल्प

केरल
वाजाककुलम अनानास
कृषि

केरल
किन्नौरी शाल

हस्तशिल्प

हिमाचल प्रदेश
बलरामपुरम साड़ी और महीन सूती कपड़े

हस्तशिल्प

केरल
पैठणी साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

महाराष्ट्र
फिरोजाबाद ग्लास (वर्ड मार्क)

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
यूपी के मिर्जापुर क्षेत्र में हाथ से निर्मित भदोही का कालीन

हस्तनिर्मित कालीन

Uttar Pradesh
कानपुर सदलरी
निर्मित

Uttar Pradesh
Kannauj Perfume (Word Mark)

निर्मित

Uttar Pradesh
मुरादाबाद मेटल क्राफ्ट (शब्द चिह्न)

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
Khurja Pottery

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
कुथमपल्ली साड़ी और महीन सूती कपड़े

हस्तशिल्प

केरल
आगरा दरी

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
लखनऊ जरदोजी

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
मालिहाबादी दशहरी आम

कृषि

Uttar Pradesh
फरुखाबाद कॉटन प्रिंट

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
बनारस ब्रोकेस और साड़ी (लोगो)

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
वाराणसी ग्लास मनकों (Varanasi Glass Beads)

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
चम्पा सिल्क साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

छत्तीसगढ
कच्छ का शॉल

हस्तशिल्प

गुजरात
धनिखली साड़ी

हस्तशिल्प

पश्चिम बंगाल
कश्मीर पेपर माची

हस्तशिल्प

जम्मू और कश्मीर
सूरत जरी शिल्प

हस्तशिल्प

गुजरात
वाराणसी लकड़ी के लाख के बर्तन और खिलौने

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
गोपालपुर तुसार कपड़े

हस्तशिल्प

ओडिशा
मिर्ज़ापुर की हस्तनिर्मित दरी (Mirzapur Handmade Dari)हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
कासरगोड साड़ी

हस्तशिल्प

केरल
बनारस मेटल रिपोज क्राफ्ट

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
नासिक का अंगूर

कृषि

महाराष्ट्र
निजामाबाद काली मिट्टी के बर्तनहस्तशिल्प

Uttar Pradesh
सेंट्रल ट्रावनकोर जग्गी
(Central Travancore Jaggery)
कृषि

केरल
बनारस गुलाबी मीनाकारी क्राफ्ट

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
भालिया गेहूं

कृषि

गुजरात
विलियानूर टेराकोटा वर्क्स

हस्तशिल्प

पुदुचेरी
हैदराबाद हलीम

खाद्य सामग्री

तेलंगाना
थिरुकन्नूर पापियर माचे क्राफ्ट

हस्तशिल्प

पुदुचेरी
बोब्बिली वीणा

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
पेमबर्थी मेटल क्राफ्ट

हस्तशिल्प

तेलंगाना
कालानमक चावल (Kalanamak Rice)

कृषि

Uttar Pradesh
बेरहामपुर फोड़ा कुंभा साड़ी और जोड़ा (Berhampur Phoda Kumbha Saree & Joda)

कपड़ा

ओडिशा
Khatamband

हस्तशिल्प

जम्मू और कश्मीर
बोमकई साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

ओडिशा
नारायणपेट हैंडलूम साड़ी

हस्तशिल्प

तेलंगाना
धर्मावरम हथकरघा पट्टु साड़ी और पावादि

कपड़ा

आंध्र प्रदेश
हाबासपुरी साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

ओडिशा
तंजावुर वेनई (तंजौर वीणा)

हस्तशिल्प

तमिलनाडु
महेश्वर साड़ी और कपड़ा
प्राकृतिक वस्तु

MADHYA PRADESH
चेट्टीनाड कोट्टन

खाद्य सामग्री

तमिलनाडु
मंगलगिरी साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
उडुपी मट्टू गुल्ला बैंगन

कृषि

कर्नाटक
सिद्दीपेट गोलाबामा

हस्तशिल्प

तेलंगाना
धलापथर पर्दा & फैब्रिक्स (Dhalapathar Parda & Fabrics)

हस्तशिल्प

ओडिशा
सहारनपुर लकड़ी शिल्प (लोगो के साथ शब्द चिह्न)

हस्तशिल्प

Uttar Pradesh
वेंकटगिरी साड़ी

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
चेरियल पेंटिंग्स

हस्तशिल्प

तेलंगाना
गिर केसर आम

कृषि

गुजरात
संबलपुरी बंद साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

ओडिशा
कश्मीरी हैंड नॉटेड कालीन

हस्तशिल्प

जम्मू और कश्मीर
चेन्दमंगलम धोती और सेट मुंडू

हस्तशिल्प

केरल
बगरू हाथ ब्लॉक प्रिंटहस्तशिल्प

राजस्थान
गंजम केवड़ा रूह

कृषि

ओडिशा
कश्मीर अखरोट की लकड़ी की नक्काशी

हस्तशिल्प

जम्मू और कश्मीर
Wangkhei Phee

कपड़ा

मणिपुर
Kaipad Rice

कृषि

केरल
Shaphee Lanphee

कपड़ा

मणिपुर
पटोला साड़ी

हस्तशिल्प

गुजरात
Moirang Pheeकपड़ा

मणिपुर
बानगानपल्ले आम

कृषि

आंध्र प्रदेश
नागा पेड़ टमाटर

कृषि

नगालैंड
Thewa Art Work (Gold Work on Glass)हस्तशिल्प

राजस्थान
गंजम केवड़ा फूल

कृषि

ओडिशा
सिक्किम की बड़ी इलायची

कृषि

सिक्किम
काँगड़ा पेंटिंग (Kangra Paintings)

हस्तशिल्प

हिमाचल प्रदेश
Jaynagarer Moaखाने का पदार्थ

पश्चिम बंगाल
अरुणाचल ऑरेंज

कृषि

अरुणाचल प्रदेश
नागपुर ऑरेंज

कृषि

महाराष्ट्र
मिजो मिर्च

कृषि

मिजोरम
महाबलिपुरम स्टोन मूर्तिकला

हस्तशिल्प

तमिलनाडु
बंदार लड्डू (Bandar Laddu)

खाद्य सामग्री

आंध्र प्रदेश
कांगड़ा पेंटिंग (आवेदन संख्या 3 के साथ विलय)

हस्तशिल्प

हिमाचल प्रदेश
कुत्थमपल्ली धोती और सेट मुंडू

कपड़े

केरल
श्रीविल्लिपुत्तुर पलकोवा

खाद्य सामग्री

तमिलनाडु
मकराना मार्बल

प्राकृतिक

राजस्थान
मीरुत कैंची (Meerut Scissors)

निर्मित

Uttar Pradesh
रतलामी सेव (Ratlami Sev)

खाने का पदार्थ

Madhya Pradesh
करवथ कटि साड़ी और कपड़े

हस्तशिल्प

महाराष्ट्र
मेमोंग नारंग (संतरे की एक प्रजाति)

कृषि

मेघालय
दतिया और टीकमगढ़ का बेल मेटल वेयर

हस्तशिल्प

Madhya Pradesh
त्रिपुरा क्वीन पाइनएप्पल (Tripura Queen Pineapple)

कृषि

त्रिपुरा
तेजपुर लीची

कृषि

असम
असम कार्बी आंगलोंग अदरक

कृषि

असम
असम की जोहा चावल

कृषि

असम
वारली पेंटिंग

हस्तशिल्प

महाराष्ट्र
कचाई नींबू

कृषि

मणिपुर
वायगाँव हल्दी (Waigaon Turmeric)

कृषि

महाराष्ट्र
'वाघ्या' घेवडा

कृषि

महाराष्ट्र
मंगलवेद ज्वार

कृषि

महाराष्ट्र
भिववापुर मिर्च

कृषि

महाराष्ट्र
सिंधुदुर्ग और रत्नगिरि कोकुमकृषि

महाराष्ट्र
Ajara Ghansal Rice

कृषि

महाराष्ट्र
खासी मंदारिन (संतरे की एक प्रजाति)

कृषि

मेघालय
अंबामोहर चावल

कृषि

महाराष्ट्र
लासलगाँव प्याज

कृषि

महाराष्ट्र
कोल्हापुर जग्गी (गुड)

कृषि

महाराष्ट्र
नवपुर तुर दाल

कृषि

महाराष्ट्र
सांगली किशमिश

कृषि

महाराष्ट्र
दहानू घोलवड़ चिकू

कृषि

महाराष्ट्र
वेंगुरला काजू

कृषि

महाराष्ट्र
जलगाँव केला

कृषि

महाराष्ट्र
महाबलेश्वर स्ट्रॉबेरी

कृषि

महाराष्ट्र
जालना स्वीट ऑरेंज

कृषि

महाराष्ट्र
जलगाओं भरित ब्रिंजल (Jalgaon Bharit Brinjal)

कृषि

महाराष्ट्र
सोलापुर टेरी तौलिया

हस्तशिल्प

महाराष्ट्र
पुरंदर अंजीर

कृषि

महाराष्ट्र
मराठवाडा केसर आम (Marathwada Kesar Mango)

कृषि

महाराष्ट्र
बीड कस्टर्ड एप्पल (Beed Custard Apple)

कृषि

महाराष्ट्र
उत्तराखंड तेजपात्ता

चाट मसाला

उत्तराखंड
बर्धमान सीताभोग

पश्चिम बंगालखाद्य सामग्री

बांग्लार रसोगोला

खाद्य सामग्री

पश्चिम बंगाल
बर्धमान मिहिदाना

खाने का पदार्थ

पश्चिम बंगाल
उदयगिरी लकड़ी का कटलरी

हस्तशिल्प

आंध्र प्रदेश
सोलापुर अनार

कृषि

महाराष्ट्र
Adilabad Dokra

हस्तशिल्प

तेलंगाना
मरयूर गुड़

कृषि

केरल
झाबुआ या कड़कनाथ मुर्गा (काला चिकन मांस)

खाद्य सामग्री

Madhya Pradesh
इरोड हल्दी

कृषि

तमिलनाडु
कंधमाल हल्दी (Kandhamal Haladi)

चाट मसाला

ओडिशा
बिहार का काम (खटवा) Applique

हस्तशिल्प

बिहार
भागलपुर सिल्क्स (Bhagalpur Silks)

हस्तशिल्प

बिहार
वारंगल दरिया

हस्तशिल्प

तेलंगाना
गोबिंदभोग चावल

कृषि

पश्चिम बंगाल
बिहार का सिक्की ग्रास उत्पाद (Sikki Grass Products of Bihar)

हस्तशिल्प

बिहार
चकेशंग शाल

कपड़ा

नगालैंड
शाही लीची

कृषि

बिहार
नीलाम्बुर सागौन

वन उपज

केरल
कतरनी चावल

कृषि

बिहार
तुलापनजी चावल

कृषि

पश्चिम बंगाल
जर्दालु आम

कृषि

बिहार
मगही पान (Betel)

कृषि

बिहार

PDF download now, unhindi pdf file, unhindi download

FAQs Related to Geographical Indications (GI) Tags list 2021

इस पुरे artical को पढ़ने के बाद भी यदि आपके मन कोई सवाल है तो इस Geographical Indications (GI) FAQs और QnA की मदद से आपके वो सारे doubts clear हो जायेगे –

Q.Who designed the logo of GI tag?

जीआई टैग का Logo designed करने वाले व्यक्ति  आदिरी चटर्जी है| इस लोगो के साथ एक tagline “Invaluable Treasures of Incredible India” होता है जिसे आकांक्षा त्रिपाठी के द्वारा लिखा गया है|

 

Q1.Which state has the highest GI tags?

कर्नाटक (Karnataka) सबसे अधिक जीआई टैग लेने वाला राज्य है|

 

Q.How many products in India got GI tag?

भारत में अब तक लगभग 365 products को यह टैग मिल चुका है|

 

Q.Which state has no GI tag?

भारत का एक झारखण्ड ऐसा राज्य है जिसके पास किसी भी वस्तु के लिए टैग नहीं मिला है|

 

Q.What is the first Indian product to receive GI tag?

दार्जिलिंग चाय (Darjeeling tea)को सबसे पहले 2004-05 में टैग मिला था|

 

Q.Which state got GI tag for turmeric?

एक ख़ास प्राकार की हल्दी जिसे “कन्धमाल हल्दी” के नाम से जाना जाता है| और इसकी खेती दक्षिणी ओडिशा में होती है इस राज्य को हल्दी के इस किस्म के लिए टैग मिला है|

 

Q.How many GI tags are there in Bihar?

बिहार को अब तक 3 product के लिए GI Tags मिला है – कटारनी चावल, जरदालू आम और मगही पान

 

GI Tags List Conclusion

What is GI Tags in Hindi और full form of GI Tags” के इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह हिंदी लेख जरूर पसंद आया होगा|

यदि आपको unhindi की यह post पसंद आया तो,आप इसे अपने social media पर अपने दोस्तों में share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको “GI Tags 2021 pdf in hindi” से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे comment करें या हमें contact करे, और hindi meaning, full form in hindi, internet knowledge, how-to in hindi, से सम्बंधित जानकारी पढ़ने के लिए हमसे जुड़े रहें| (जय हिंदी जय भारत)

Leave a Reply