Generation of Computer in Hindi Notes – कम्प्यूटर की पीढ़ीयाँ और इतिहास

computer और Internet को इस सदी का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार मान जाता है, दुनियाँ की सारी सामग्री computer पर internet के माध्यम से उपलब्ध है. लेकिन कंप्यूटर के आविष्कार के समय से इसमे कई बदलाव किये गए, जिसे जनरेशन ऑफ कंप्यूटर कहा गया

Generation of Computer हमे कंम्यूटर के विकास और आविष्कार के बारे में बताता है, Computer के  Generation के अनुसार कंप्यूटर एक कमरे जितने बड़े आकार से सिमट कर हमारी हथेली पर आ गया है, इसके विकसित होने में कई technology और कई साल लग गए, ऐसा माना जाता है की, कम्प्यूटर की प्रथम पीढ़ी की शुरूआत 1945 से हुई और आज तक हर दिन हो रही है, 

कंप्यूटर और इसकी परिभाषा क्या है?

 Computer शब्द की उत्त्पत्ति “computare” नाम की एक Latin word से हुई है. जिसका अर्थ होता है to calculate यानी गणना करना. लेकिन यदि हम कंप्यूटर और इसकी परिभाषा को समझे तो –

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जो user के instructions के basis पर software program और hardware के द्वारा arthmetical और logical calculation को करती है. यानी कंप्यूटर applications को execute करती है, और इसमे integrated hardware और software components का use करके user को input Data के बदले Output result देता है.

Computer की generation क्या है?

हम सभी जानते है की कंप्यूटर का आविष्कार अचानक नहीं हुआ, इसमे समय समय पर इसमे निरंतर Modification होते रहे, Computer के आविष्कार के Time Periods दौरान जो भी महत्वपूर्ण बदलाव या आविष्कार किये गए उन्हें एक generation का नाम दिया गया. जैसे First-generation में Vacuum tube , Second generation में Transistor, Third generation में Integrated circuit का use किया गया.

यानी प्रत्येक generation में इसके size, performance, machin language और Processing capacity में बदलाव किये गए और इसी बदलाव के क्रम या समयांतराल को जनरेशन ऑफ कंप्यूटर कहा गया. वर्तमान में कंप्यूटर की पांच generation विकसित हो चुकी है, और 6th generation के computer को विकसित या जा रहा है,

इसमें voice recognition, NLP (Natural language processing), Machine Learning और Nano technology जैसे feature पर काम किया जा रहा है. अब कंप्यूटर के जनरेशन (Generations of Computers and its Time Periods) के बेसिक को समझते है.

Generations of computers NotesGenerations timelineHardware Technology
First-generation1946-1959 Vacuum tube-based
Second generation1959-1965Transistor-based
Third generation1965-1971Integrated circuit-based
Fourth generation1971-1980Microprocessor-based
Fifth-generation1980-onwardsArtificial intelligence-based
Sixth-generationPresent Timeadvance Artificial intelligence, voice recognition, NLP (Natural language processing), Machine Learning
Generations of Computers and its Time Periods
Generation of Computer in Hindi Notes pdf
Generations of Computers and its Time Periods Hindi Notes

कंप्यूटर की पहली पीढ़ीFirst Generation of Computer in Hindi

computer की पहली पीढ़ी का विकास 1937-1953 के बिच हुआ था. इसी समय काल में Fully Electronic Digital Computer यानी ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) नाम के कंप्यूटर का निर्माण हुआ. ENIAC का आविष्कार जे.पी.एकर्ट (J. P. Eckert) तथा जे. डब्ल्यू. मोश्ले (J. W. Mauchly) ने किया था

लेकिन कंप्यूटर की पहली पीढ़ी में कम्पूटरो Data Store करने के लिए Vacuum tube का इस्तेमाल होता था, जिसके कारण इस पीढ़ी के कंप्यूटर का आकार काफी बड़ा हुआ करता था. तथा इसे चलाने के लिए बहुत ही अधिक मात्रा में विजली की जरूरत होती थी.

वैक्यूम ट्यूब क्या है? कंप्यूटर में इसका क्या उपयोग था?

technology के आभाव के कारण पहली 1st Generation Computer में वैक्यूम ट्यूब (Vacuum tube) का उपयोग Logic circuitry के लिए किया गया था.

वेक्यूम ट्यूब में दो डायोड लगे होते थे, डायोड के अंदर एनोड और कैथोड नाम के Electrodes होते थे, इन दोनों एनोड और कैथोड को बिजली या बैटरी से जोड़ दिया जाता था. और जब एनोड में बिजली प्रवाहित की जाती थी, तब वह गर्म हो जाता था और इसमें इलेक्ट्रॉन एनोड से कैथोड की तरफ प्रवाहित होने लगते थे.

what is vacuum tubes first generation of computer
what is vacuum tubes first generation of computer

यह आकार में बहुत बड़े होते थे और यह कंप्यूटर में जल्दी गर्म हो जाते थे. इसलिए इसे ठंडे रखने के लिए एयर कंडीशन या ठंडी वातावरण का उपयोग किया जाता था. चुकी यह वैक्यूम ट्यूब size में काफी बड़े होते थे. इसलिए इसे अधिक मात्र में power की जरूरत होती थी, और खराब होने पर इसे बदलना काफी मुश्किल काम था.

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम – Second Generations of Computers and its Time Periods hindi

  • एनिक (ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer)
  • एडसैक (EDSEC – Electronic Delay Storage Automatic Calculator)
  • एडवैक (EDVAC – Electronic Discrete Variable Automatic Computer )
  • यूनिवैक (UNIVAC – Universal Automatic Computer)
  • यूनीवैक – 1 (UNIVAC – 1) और
  • मार्क – 1 (MARK-1)

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी की विशेषताएँ क्या थी?

  • Vacuum tube द्वारा निर्मित होता था
  • यह बहुत ही धीमी गति से काम करता था और इसकी मेमोरी भी कम होती थी
  • इसका वजन बहुत अधिक था, और धीमे काम करता था
  • इनपुट और आउटपुट के लिए पंच कार्ड और चुम्बकीये टेप का प्रयोग किया जाता था.
  • मशीनी और असेम्‍बली प्रोग्रामिंग भाषा का प्रयोग किया जाता था
  • यह आकार में बहुत बड़ा होता था, जिसके कारण इसे रखने के लिए बड़े रूम की जरूरत होती थी.
  • यह अधिक गर्मी उत्सर्जित करती थी, जिसके कारण AC की आवश्यकता होती थी.
  • अभी के लैपटॉप और कंप्यूटर की तुलना में काफ़ी महंगे और बड़े होते थे
  • इसे चालू करने के लिए अधिक मात्रा में बिजली की आवश्यकता होती थी
  • आम user के लिए इस  कंप्यूटर का उपयोग करना मुश्किल था.
  • अब आप 1 जनरेशन ऑफ कंप्यूटर के बारे में समझ चुके होंगे
LiFi क्या है और LiFi का आविष्कार किसने किया
Right Click का उपयोग
SSD क्या है | HDD और SSD में क्या अंतर है
WLAN क्या है कैसे काम करता है

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ीSecond Generation of Computer in Hindi Notes

Second Generation of Computer को 1956 से लेकर 1964 तक विकसित किया गया था, इसी बिच विलियम शॉकले (William Shockley) ने 1947 में transistor का आविष्‍कार किया, कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी में Vacuum tube के बदले इसी Transistor का use किया जाने लगा. Transistor का उपयोग करने से कंप्यूटर, वैक्‍यूम ट्यूबों की तुलना में अधिक Fast काम करने लगे, इनकी प्रोसेसिंग की गति Fast हो गई और इसका आकार भी पहले की तुलना में कम हो गया.

second generation of computer Integrated Circuit
second generation of computer Integrated Circuit

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम | Examples of Second Generation of Computer

  • IBM 1620
  • IBM 7094
  • CDC 1604
  • CDC 3600
  • UNIVAC 1108

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएँ

  • दूसरी पीढ़ी में Vacuum tube की जगह Transistor का उपयोग किया जाने लगा
  • Transistor का उपयोग होने के कारण ऊर्जा की कम खपत कम होने लगी
  • पहली पीढ़ी की तुलना में यह कम खर्चीले थे, और आकर में भी छोटे थे.
  • दूसरी पीढ़ी के कम्प्यूटर में machine language के स्थान पर high level language जैसे Fortran, Cobol, Algol, Snobal का उपयोग किया गया था।
  • Data stored रखने के लिए Magnetic drum के बदले Magnetic core memory का use किया जाने लगा
  • Data safe रखने के लिए पंचकार्ड के साथ-साथ magnetic tap और disk का प्रयोग होता था।
  • अब आप 2 जनरेशन ऑफ कंप्यूटर के बारे में समझ चुके होंगे
माउस में कितने बटन होते हैं
SSHD क्या होता है
Mouse क्या होता है यह कैसे काम करता है

कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ीThird Generation of Computer in Hindi

Computer के Third Generation का समय 1963-1972 तक का था. इस पीढ़ी के कम्‍प्‍यूटरों में सबसे बड़ी खासियत यह थी की इसमे Main electronic component- Transistor के बदले IC यानि Integrated Circuit का इस्तमाल किया जाने लगा. इस Integrated Circuit का आविष्कार जैक किल्‍बी (Jack Kilby) ने किया था।

इस इंट्रीग्रेटेड सर्किट के इस्तेमाल के कारण अब और भी छोटे आकार का कंप्यूटर बनाना संभव था. जिसमे बिजली की होने वाली खपत और भी कम हो गई थी, साथ ही इसके प्रोसेसिंग की गति दोनों पीढियों की तुलना में और अधिक हो गई थी.

इसके अलावे इसमे operating system, Input Device और output devices जैसे magnetic tape, keyboard, monitor, printer इत्यादि का भी उपयोग होने लगा.

third generation computer integrated circuit
third generation computer integrated circuit

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम – Examples of Third Generation of Computer Hindi

  • Programmable Data Processor 1 (PDP-1)
  • PDP-5
  • PDP-8
  • ICL 2903
  • ICL 1900
  • UNIVAC 1108

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएँ

  • ट्रांजिस्टर के बदले ic chip का उपयोग किया जाने लगा
  • पिछली पीढ़ी की तुलना में ज्यादा विश्वसनीय और छोटे आकार के थे.
  • इसमे Fortran-I to Iv, Cobol, Pascal, Basic, Algol जैसे High level language का प्रयोग किया जाने लगा.
  • इसे चलने के लिए कम ऊर्चा की जरूरत थी.
  • इस पीढ़ी के कम्प्यूटर को नियंत्रित करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाने लगा
  • Mouse और Keyboard जैसे input output डिवाइस का use होने लगा.
  • अब आप 3 जनरेशन ऑफ कंप्यूटर के बारे में समझ चुके होंगे

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ीFourth Generations of Computers and its Time Periods in Hindi

computer की Fourth generation की शुरुआत सन् 1972-1984 तक थी. इस पीढ़ी में computer वैज्ञानिको ने IC Integrated Circuit के बदले VLSI (Very Large Scale Integrated) को विकसित किया यह VLSI लगभग 300000 ट्रां‍जिस्‍टरों के बराबर प्रोसेसिंग करने में सक्षम था. इसे Microprocessor का नाम दिया गया.

इस Microprocessor की मदद से सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को एक छोटे से Chip पर install करना संभव हो गया था. और इसी माइक्रोप्रोसेसर के इस्तेमाल से बने कंप्यूटर को माइक्रो कम्‍प्‍यूटर (Micro computer) का नाम दिया गया. माइक्रोप्रोसेसर एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोसेसर है जहां डेटा प्रोसेसिंग लॉजिक और कंट्रोल को एक Integrated circuit, पर process किया जाता है।

Fourth Generation of Computer में Graphical User Interface (GUI) वाली Operating system का use किया गया. जिसकी मदद से Arithmetic and Logical Calculation को बहुत ही आसानी से किया जा सकता था. उस समय सबसे पहला माइक्रो कम्‍प्‍यूटर ALTAIR 8800 बनाया गया, जिसे मिट्स (MITS) नामक कम्‍पनी ने बनाया था।

इसी समय  Internet, GUI (Graphical User Interface) operating system जैसी टेक्नोलॉजी का आविष्कार हुआ, कंप्यूटर का आकार छोटा हो गया, इसमे बिजली की खपत कम होने लगी, Data को store करने के लिए सेमी -कंडक्टर मेमोरी का प्रयोग किया जाने लगा जिसने मेमोरी की क्षमता को भी बढ़ा दिया. गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट कम्‍पनी की स्‍थापना की और कंप्यूटर के युग में नई क्रान्ति का उदय हुआ और आम User के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल करना आसान हो गया.

forth generation computer VLSI Microprocessor
forth generation computer VLSI Microprocessor

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम – Examples of Second Generation of Computer Hindi

  • Dec 10
  • Star 1000
  • PDP 11
  • CRAY-1
  • CRAY-X-MP (Super Computer)
  • PCs

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएँ

  • इस पीढ़ी में Very Large Scale Integrated Circuit का उपयोग करके सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को और बेहतर बना दिया गया.
  • इसकी Processing capacity और बढ़ गई और कीमत कम हो गई.
  • इस कंप्यूटर का size छोटा हो गया जिसके कारन आम आदमी भी इसका उपयोग करने लगे
  • High level language जैसे– C, C++, DBASE का उपयोग
  • अब आप 4 जनरेशन ऑफ कंप्यूटर के बारे में समझ चुके होंगे
कंप्यूटर के 500 महत्वपूर्ण प्रश्न
कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया
कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं

कंप्यूटर की पाचवी पीढ़ीFifth Generation of Computer in Hindi

Fifth Generation के कंप्यूटर का उपयोग बहुत ही बड़े level पर होने लगा, चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में कई सीमाए (limitations) और कमियों को दूर किया गया. सन 1984 के बाद के समय को कंप्यूटर का Fifth Generation माना गया है.

इसमे भविष्य में आने वाली computer technology जैसे अधिक Powerful, fast, high-tech and high-memory capacity वाले कंप्यूटर को शामिल किया गया है. इसमे साधारण Microprocessor की जगह Ultra Large Scale Integrated Microprocessor का use किया जाता है. ULSI Microprocessor की एक chip में लगभग एक करोड़ components को install किया जा सकता है.

fifth Generations of Computers
fifth Generations of Computers

इसके अलावे Parallel processing method को भी developed किया गया है, Parallel processing method की मदद से एक समय में Multitask कार्यो को एक साथ करने के लिए दो या दो से अधिक माइक्रोप्रोसेसरों का उपयोग किया जा सकता है.

Fifth Generation of Computer की सबसे ख़ास feature Artificial Intelligence यानि कृत्रिम बुद्धिमत्ता है, यानी वैसे कंप्यूटर जो खुद ही Data analysis कर सकता है. इसी कारण इसका उपयोग Accounting, engineering, building, space, मौसम विभाग प्राकृतिक आपदा तथा दूसरे प्रकार के शोध-कार्य के लिए किये जाते है.

पाचवी पीढ़ी के कंप्यूटर के उदाहरण – fifth Generations of Computers and its Time Periods Hindi

  • Desktops
  • Laptops
  • Tablets
  • Smartphones
  • Smart Watch
  • Notebook
  • Ultrabook
  • Chrome Book

पाचवी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएँ

  • ULSI (Ultra Large Scale Integrated Microprocessor) technology का उपयोग
  • Artificial Intelligence को devolved किया गया
  • advance Input / output device का उपयोग
  • computer को जोड़ने के लिए Internet, E-mail और WWW (World Wide Web) को विकसित किया गया
  • user friendly interface के लिए कई सारे operating system, computer Application, और Multimedia features जैसे sound, graphics, images और text को भी बनाया गया.
  • C, C++, Java, .net, Html और ASP जैसी high level languages का use
  • इसे आम लोगो के उपयोग के लिए Faster, reliable और cheaper बनाया गया.
  • अब आप 5 जनरेशन ऑफ कंप्यूटर के बारे में समझ चुके होंगे

कंप्यूटर की छठी पीढ़ीSixth Generation of Computer in Hindi

वर्तमान समय या आने वाले समय के कंप्यूटर को हम Sixth Generation of Computer कह सकते है, इसमे कई प्रकार की technology का उपयोग किया गया है, इसे Fifth Generation के Computer से थोडा सा advance कहा जा सकता है.

Artificial Intelligence पर आधारित पांचवीं पीढ़ी के Computing device का विकास Sixth generation में किया जा रहा हैं, आने वाले समय में Computer की Sixth Generation में उपयोग होने वाले voice recognition, NLP (Natural language processing) और Nano technology कंप्यूटर के मौलिक रूप से बदल देगी.

पांचवीं पीढ़ी और Sixth generation के कंप्यूटिंग device का मुख्य लक्ष्य nanotechnology और  Advance Algorithm से उन उपकरणों को विकसित करना है, जो Natural language input को समझने, जवाब देने, self-Learning और self-organization में सक्षम हो. इसका सबसे अच्छा उदाहरण Google voice search और Siri है.

IP Address क्या होता है इसका use कयो किया जाता है.
Led और OLed में अंतर है.

छठी पीढ़ी के कंप्यूटर के उदाहरण – Examples of sixth Generation of Computer Hindi

  • Optical computers– एक Optical computer (जिसे फोटोनिक कंप्यूटर भी कहा जाता है) एक ऐसा Equipment है जो डिजिटल गणना करने के लिए Electric current के बदले visible light or infrared beams में फोटॉन का उपयोग करता है।
  • Hologram Computer– Hologram एक three dimensional चित्र है। होलोग्राफिक कंप्यूटर digitally generating holographic interference patterns को बनाता है, जो Users को वर्चुअल 3डी में काम करने और डिजाइन बनने में मदद करता है.

कम्प्यूटर जनरेशन क्या है – FAQs

इस पुरे Article को पढ़ने के बाद भी यदि generation of computer hindi notes से जुड़े कोई भी सवाल आपके मन में है, तो कम्प्यूटर जनरेशन क्या है के FAQs & QnA की मदद से आपके सारे doubts clear हो जायेगे –

  1. इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कैलकुलेटर (ENIAC) क्या था?

    ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) दुनिया का सबसे पहला और सबसे बड़ा कंप्यूटर था. जिसका आकार लगभग एक कमरे जितना बड़ा था. यह कंप्यूटर की पहली पीढ़ी के पहले निर्मित कंप्यूटर था.

  2. कंप्यूटर की कितनी पीढ़ियां हैं

    computer की Six generation (छ: पीढ़ी) विकसित हो चुकी है. Sixth generation को future generations of Computer भी कहा जाता है.

  3. प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर किस तकनीक पर आधारित है

    प्रथम पीढ़ी में Diode valve Vacuum Tube Technology का प्रयोग किया गया था। इस डायोड वाल्व वैक्यूम ट्यूब का आविष्कार सर एम्ब्रोज फ्लेमिंग ने सन् 1904 में किया था। इन्हें थर्मोनियोनिक वॉल्व (Thermonionic Valve) का नाम भी दिया गया।

  4. प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर की भाषा कौन सी थी?

    प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर में मशीन भाषा का प्रयोग किया गया था।

  5. किस पीढ़ी के कंप्यूटर में माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग किया गया?

    माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में किया गया. इसमे हजारों
    integrated circuits एक सिलिकॉन चिप में लगाए गए थे.

  6. वैक्यूम ट्यूब क्या होता है.

    वैक्यूम ट्यूब को हिंदी (what is vaccume tubes hindi) में निर्वात नली कहा जाता है, और इसका उपयोग पहले पीढ़ी में संगगंक को बनने में किया गया था. वैक्यूम ट्यूब एक इलेक्ट्रॉन ट्यूब होता है. जो इलेक्ट्रोड के बीच एक High vacuum के दौरान विद्युत प्रवाह के प्रवाह को नियंत्रित करता है.

  7. computer के कौन से generation में transister का उपयोग किया जाता था

    संगणक में transister का उपयोग Second generation मतलब 1959-1965 में किया गया था. transister का आविष्कार William Shockley, John Bardeen, और Walter Houser Brattain के द्वारा 23 December, 1947 में किया गया था.

  8. computer के कौन से generation में Integrated circuit का उपयोग किया जाता था

    कंप्यूटर्स के Third generation में Integrated circuit का उपयोग किया गया था. Integrated circuit chip का आविष्कार जैक किल्बी ने 12 सितंबर, 1958 में किया था.

  9. Microprocessor का उपयोग कंप्यूटर्स के किस generation में किया गया

    Microprocessor या VLSI (Very Large Scale Integrated) का उपयोग Fourth generation के कंप्यूटर को बनाने में किया गया. इसके कारण ही Arithmetic and Logical Calculation को कर पाना आसान हुआ.

  10. Artificial intelligence technology का उपयोग कंप्यूटर के किस पीढ़ी में विकसित किया गया है

    Artificial intelligence को कंप्यूटर के 5th और 6th generation के लिए विकसित किया गया है. आर्टिफिशियल इटेलिजेंस की मदद से कंप्यूटर मनुष्य के भाषा, विचार को पहचानने, समस्या-समाधान, लाजिकल रीजनिंग, डिजिटल डेटा प्रोसेसिंग, को आसानी से समझ सकती है

आपने कम्प्यूटर जनरेशन क्या है लेख में क्या सिखा?

कंप्यूटर विज्ञान ने एक कमरे जितने बड़े से कंप्यूटर को छोटा करके हमारी हथेली पर ला कर रख दिया, और शायद कंप्यूटर का आविष्कार आने वाले भविष्य में machine learning और Artificial Intelligence की मदद से technology से जुडी हमारी कार्यो को और भी आसान बना देगी.

हमें पूरी उम्मीद है, की Generation of computer hindi Notes के इस पोस्ट में आपको बहुत कुछ सिखने को मिला होगा. को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद, हमें उम्मीद है, की आपको यह हिंदी लेख जरूर पसंद आया होगा| यदि आपने कंप्यूटर जनरेशन इन हिंदी के इस हिंदी-पोस्ट को अच्छे से पढ़ा होगा तो इसमे दी गई जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगी।

यदि आपको unhindi की पोस्ट कम्प्यूटर जनरेशन क्या है पसंद आया तो,आप इसे अपने social media पर अपने दोस्तों में share करे, और हमारा उत्साह बढ़ाये| यदि आपको इस post से सम्बन्धित कोई सवाल सुझाव या कोई त्रुटी हो तो नीचे comment करें या हमें contact करे-  (जय हिंदी जय भारत)

Leave a Reply